‘वोट बैंक के लालच में ममता बनर्जी घुसपैठियों को अपना भाई बता रही हैं.’  

— अमर सिंह, समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता

अमर सिंह का यह बयान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए आया है. एक ट्वीट में उन्होंने कहा है कि राज्य विधानसभा में जब वे विपक्ष में बैठती थीं तो उन्होंने घुसपैठियों का जमकर विरोध किया था. इस मुद्दे को लेकर उन्होंने कई बार सदन की कार्रवाई में बाधा डाली थी. लेकिन सत्ता में आने के बाद घुसपैठियों को लेकर ममता बनर्जी का विचार बदल गया है. अमर सिंह के मुताबिक घुसपैठियों में ममता बनर्जी को मेले में बिछड़ा हुआ अपना भाई दिखने लगा है और ऐसा वे वोट बैंक की खातिर कर रही हैं. इससे पहले ममता ​बनर्जी ने असम में नेशनल रजिस्टर आॅफ सिटीजंस (एनआरसी) को लेकर अपना विरोध जताया था.


‘पश्चिम बंगाल का गठन हिंदुओं के लिए किया गया था.’  

— रूपा गांगुली, भारतीय जनता पार्टी की सांसद

रूपा गांगुली का यह बयान प्रस्तावित नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में आया है. उनका कहना है कि भारत विभाजन के समय पाकिस्तान और बांग्लादेश का गठन मुसलमानों के लिए किया गया था. इसके बाद भारत के हिस्से वाले पश्चिम बंगाल का गठन बांग्लादेश से लौटने वाले हिंदुओं के लिए हुआ. इस दौरान रूपा गांगुली ने यह भी कहा कि भारत में पैदा होने वाले और बचपन से इसी देश में रहने वाले मुसलमानों को नेशनल रजिस्टर आॅफ सिटीजंस (एनआरसी) को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है.


‘बीते 30 सालों में अलगाववादियों और आजादी मांगने वालों ने जम्मू-कश्मीर को बर्बाद कर दिया है.’  

— फारुक अब्दुल्ला, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री

फारुक अब्दुल्ला का यह बयान ईद-उल-अजहा के मौके पर बुधवार को कश्मीर की एक मस्जिद में उन्हें जूता दिखाए जाने और उनके साथ धक्का-मुक्की किए जाने के बाद आया है. फारुक अब्दुल्ला का कहना है कि विरोधियों की ऐसी हकरतों से वे डरने वाले नहीं हैं. इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि कश्मीर हिंदुस्तान का हिस्सा है और यह देश की प्र​गति में भागीदार बनना चाहता है. बीते ​दिनों देश के भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की श्रद्धांजलि सभा के दौरान दिए संबोधन के बाद उन्होंने भारत माता की जय के नारे लगवाये थे और जय हिंद भी बोला था. बताया जाता है कि है कि इसी वजह से उन्हें आज स्थानीय लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा था.


‘लोगों ने हम पर भरोसा छोड़ दिया लेकिन हमें खुद पर विश्वास था.’  

— विराट कोहली, भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान

विराट कोहली ने यह बात पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला के तीसरे मैच में भारतीय क्रिकेट टीम द्वारा इंग्लैंड पर जीत हासिल करने के बाद कही है. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि अपनी आलोचनाओं को भुलाकर भारतीय टीम पक्के इरादे के साथ मैदान पर उतरी थी और भारतीय खिलाड़ी अच्छी तरह समझते थे कि वे इंग्लैंड पर जीत दर्ज कर सकते हैं. इस दौरान विराट कोहली ने यह भी कहा कि शुरुआती दो मुकाबलों में अच्छा प्रदर्शन न कर पाने पर उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा ने उनका हौसला बढ़ाया जिसका उन्हें मैदान पर पूरा फायदा मिला.