करीब तीन महीनों के स्वास्थ्य अवकाश के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली आज से एक बार फिर केंद्रीय वित्त और कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय का कार्यभार संभालने जा रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सलाह पर अरुण जेटली को इन दोनों मंत्रालयों की जिम्मेदारी सौंपने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की तरफ से निर्देश जारी कर दिए गए हैं.

इससे पहले इसी साल 14 मई को अरुण जेटली का किडनी प्रत्यारोपण हुआ था. दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में सफल आॅपरेशन के बाद डॉक्टरों की सलाह पर कुछ समय के लिए अरुण जेटली ने सार्वजनिक जगहों पर आना-जाना और लोगों से मिलना-जुलना बंद कर रखा था. उनकी अनुपस्थिति में रेल तथा कोयला मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल रहे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल को वित्त और कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालयों की अतिरिक्त जिम्मेदारी सौंपी गई थी.

इसी महीने की नौ तारीख को राज्यसभा उप सभा​पति के चुनाव के दिन अरुण जेटली अपना वोट देने के लिए संसद भवन पहुंचे थे. इसके बाद से ही उनके जल्दी ही काम पर लौटने की संभावनाएं जताई जाने लगी थीं.