पाकिस्तान ने एक अप्रत्याशित कदम उठाते हुए अमेरिका से अपने बयान को तुरंत ठीक करने के लिए कहा है. यह बयान अमेरिकी विदेश विभाग ने जारी किया था. इसमें कहा गया था कि अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने नए प्रधानमंत्री इमरान खान को पाकिस्तान से चलने वाले आतंकी संगठनों के खिलाफ निर्णायक कदम उठाने के लिए कहा है. पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने कहा कि इस बातचीत में पॉम्पियो ने इमरान खान को बधाई देते हुए दुसरे मुद्दों पर बात की थी, लेकिन आतंकवाद पर किसी तरह की कोई चर्चा नहीं हुई.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने बयान जारी करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान और अमेरिकी विदेश मंत्री के बीच हुई बातचीत को लेकर अमेरिकी विदेश विभाग की तरफ से जारी किया गया बयान तथ्यात्मक रूप से गलत है जिसपर पाकिस्तान आपत्ति जाहिर करता है. उसके मुताबिक इस गलती को तुरंत ठीक किया जाना चाहिए.

करीबी सहयोगी रहे पाकिस्तान और अमेरिका रिश्ते इन दिनों तल्ख चल रहे हैं. इसकी शुरुआत इसी साल जनवरी में हुई जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान पर आरोप लगाया कि आतंकवाद के खात्मे के नाम पर उसने अमेरिका के साथ सिर्फ धोखा किया है.