‘क्या गंगा मां ने नरेंद्र मोदी को सिर्फ चुनाव लड़ने के लिए ही बुलाया था?’  

— अभिषेक मनु सिंघवी, कांग्रेस के प्रवक्ता

अभिषेक मनु सिंघवी का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए आया है. उनका कहना है कि नरेंद्र मोदी ने ‘गंगा’ का इस्तेमाल सिर्फ चुनावी जुमले की तरह किया और फिर इसे भुला दिया. उनके मुताबिक नमामि गंगे से जुड़ी सिर्फ एक चौथाई परियोजनाएं ही अब तक पूरी हो सकी हैं. इस दौरान व्यंग्यात्मक लहजे में उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा ने मार्च 2019 तक गंगाजल में 70 से 80 फीसदी का सुधार करने का दावा किया था लेकिन 2014 की तुलना में अब इसका पानी कही ज्यादा दूषित हो गया है.


‘डॉलर के मुकाबले रुपया अभी इतना नहीं गिरा है कि चिंता की जाए.’  

— रघुराम राजन, रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया के पूर्व गवर्नर

रघुराम राजन का यह बयान रुपये में आई गिरावट पर आया है. उनके मुताबिक अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के अलावा वैश्विक बाजार में डॉलर की मजबूती भी इसके प्रति जिम्मेदार है. उनका यह भी कहना है कि बीते कुछ समय में भारत ने अपना राजको​षीय घाटा कम किया है. ऐसे में अब सरकार को चालू घाटे में स्थायित्व बरकरार रखने की जरूरत है. बीते कुछ दिनों से रुपये में डॉलर के मुकाबले लगातार गिरावट आ रही थी. 16 अगस्त को यह 70.32 के भाव पर पहुंच गया था जो कि डॉलर के मुकाबले रुपये का सबसे निचला स्तर भी था.


‘बिहार को लूटने और सत्ता का दुरुपयोग करने वाले लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सुबूतों की कमी नहीं है.’  

— सुशील मोदी, बिहार के उप मुख्यमंत्री

सुशील मोदी का यह बयान लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की तरफ से दाखिल किए गए आरोप पत्र को लेकर आया है. ईडी ने यह आरोप पत्र आईआरसीटीसी के होटलों से संबंधित भ्रष्टाचार के मामले में दायर किया है. इस संबंध में सुशील मोदी ने यह भी कहा है कि लालू यादव द्वारा किए भ्रष्टाचार से उनके परिवार का कोई सदस्य नहीं बच पाएगा.


‘माइक पॉम्पियो ने इमरान खान से टेलीफोन पर आतंकवादियों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करने की बात कही थी.’  

— हीथर नोर्ट, अमेरिकी विदेश मंंत्रालय की प्रवक्ता

हीथर नोर्ट का यह बयान पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी एक बयान पर टिप्पणी करते हुए आया है. इससे पहले गुरुवार को अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच टेलीफोन पर बात हुई थी. तब अमेरिकी विदेश मंत्री ने इमरान खान से पाकिस्तान में आतंकवादियों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करने के लिए कहा था. इसे लेकर अमेरिका की तरफ से जारी बयान पर शुक्रवार को आपत्ति जताते हुए पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि दोनों नेताओं की बातचीत में आतंकवाद को लेकर कोई बात नहीं हुई थी.