राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) दिल्ली में होने वाले अपने एक कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएम) के महासचिव सीताराम येचुरी को आमंत्रित कर सकता है. द टाइम्स ऑफ इंडिया ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि आरएसएस अपने इस कार्यक्रम में विभिन्न विचारधाराओं से जुड़े लोगों को बुलाने पर विचार कर रहा है. इस कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए संघ के प्रचार प्रमुख अरुण कुमार ने बताया कि इस प्रकार का कार्यक्रम पहली बार आयोजित किया जा रहा है. इस कार्यक्रम में संघ प्रमुख मोहन भागवत ‘भविष्य का भारत और संघ का दृष्टिकोण’ विषय पर व्याख्यान देंगे. यह कार्यक्रम 17 सितम्बर से 19 सितंबर तक नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में आयोजित किया जाएगा. अरुण कुमार के मुताबिक इस कार्यक्रम में समाज के हर क्षेत्र के लोगों और राजनीतिक पार्टियों से जुड़े लोगों को बुलाए जाने की योजना है.

हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लंदन में स्थित इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रेटजिक स्टडीज (आईआईएसएस) में आरएसएस की तुलना मुस्लिम ब्रदरहुड से की थी. इस कार्यक्रम में राहुल गांधी ने कहा था कि आरएसएस भारत के हर संस्थान पर कब्जा कर देश के स्वरूप को ही बदलना चाहता है. इससे पहले जून में आरएसएस अपने एक कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे प्रणब मुखर्जी को बुला चुका है.