विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के सचिव प्रोफेसर रजनीश जैन ने दिल्ली विश्वविद्यालय के अंतर्गत आने वाले 21 महाविद्यालयों को जल्द से जल्द पूर्णकालिक प्राचार्य नियुक्त करने के निर्देश दिए है. इंडिया टुडे के मुताबिक ऐसा नहीं करने की स्थिति में यूजीसी ने कॉलेजों का वित्तीय अनुदान रोक देने की चेतावनी भी दी है. इन कॉलेजों से 31 अगस्त, 2018 तक प्राचार्य के पद के लिए साक्षात्कार की तारीखें तय करने के लिए भी कहा गया है.

यह नोटिस 13 अगस्त को जारी किया गया था. नोटिस के मुताबिक प्राचार्य नियुक्ति की यह प्रक्रिया 15 जुलाई 2018 तक पूरी की जानी थी, लेकिन अब तक नहीं की जा सकी है. नोटिस जारी किए जाने के बाद केवल एक कॉलेज में ही प्राचार्य की नियुक्ति हो पाई है.