वैश्विक बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों का जोरदार असर घरेलू बाजार पर भी देखने को मिला है. सोमवार को चौतरफा खरीदारी ​से बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) सेंसेक्स 442 अंकों की उछाल के साथ 38,694 अंकों के अपने सर्वोच्च शिखर पर बंद हुआ. बीएसई की तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) निफ्टी भी 11,700 अंकों के स्तर को पार कर गया. कारोबारी सत्र के अंत में यह 135 अंक चढ़कर 11,692 अंकों के स्तर पर बंद हुआ.

देश के इन दोनों प्रमुख शेयर बाजारों में इस महीने की शुरुआत से ही तेजी का रुख बना हुआ है. एक अगस्त को बीएसई सेंसेक्स जहां 37,711 के स्तर पर पहुंचा था तो वहीं छह अगस्त को इसने 37,805 अंकों पर पहुंचकर नया रिकॉर्ड बनाया. इसके बाद नौ अगस्त को सेंसेक्स ने पहली बार 38 हजार के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार किया था. फिर 20 अगस्त को 38,340 और 21 अगस्त को 38,487 अंक के स्तर पर पहुंच कर इसने आॅल टाइम हाई रिकॉर्ड स्थापित किया था.

इसी तरह निफ्टी में भी अगस्त महीने के पहले ही दिन से ही तेजी देखने को मिली थी. छह अगस्त को यह पहली बार 11,400 के स्तर पर पहुंचा था. 20 अगस्त को निफ्टी ने 11,500 अंकों के स्तर को पार किया था और 21 अगस्त को इसने 11,581 अंकों के सर्वोच्च स्तर को छुआ था. 23 अगस्त को 11,600 अंकों के स्तर को छूने के बाद आज इसे 11,700 अंकों के स्तर पर पहुंचने में कामयाबी मिली है.

स्टॉक मामलों के जानकारों के मुताबिक सोमवार को मिडकैप के साथ स्मॉलकैप शेयरों में जोरदार खरीदारी देखने को मिली. इसके अलावा बैंकिंग, आॅटो, फाइनेंस, आईटी, एफएमसीजी, मेटल समेत लगभग सभी सेक्टरों में खरीदारी का माहौल बना रहा. इसी का नतीजा था कि सोमवार को लगभग सभी सेक्टोरल इंडेक्स हरे निशान पर बंद हुए.