एक सितंबर से वाहन खरीदना महंगा होने जा रहा है. बीते महीने सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए एक आदेश के बाद अब सितंबर से नया वाहन खरीदने पर लंबी अवधि का थर्ड पार्टी इन्श्योरेंस लेना अनिवार्य होगा. इस हवाले से भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने वाहनों का बीमा करने वाली कंपनियों को एक सर्कुलर जारी किया है.

20 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने बीमा कंपनियों के लिए निर्देश जारी किया था कि वे एक सितंबर से लंबी अवधि के थर्ड पार्टी इन्श्योरेंस जारी करें ताकि सड़कों पर बिना बीमा वाले वाहनों की संख्या कम हो सके. इस निर्देश में नई कारों के लिए तीन साल और दोपहिया वाहनों के लिए पांच साल के थर्ड पार्टी इन्श्योरेंस की बात कही गई थी.

इरडा की वर्तमान दरों के मुताबिक ऐसी कार जिनका इंजन 1,000 सीसी से कम है उनके लिए तीन साल के थर्ड पार्टी इन्श्योरेंस की कीमत 5,286 रुपये होगी. वहीं 1,000 सीसी से 1,500 सीसी तक के लिए प्रीमियम 9534 रुपये और 1500 सीसी से ऊपर की कार के लिए 24,305 रुपये होगा.

इसके साथ ही 75 सीसी से कम इंजन वाले दोपहिया वाहनों के लिए पांच साल के इन्श्योरेंस का प्रीमियम 1045 रुपये, 75 सीसी से 150 सीसी की बाइक के लिए 3285 रुपये और 150 सीसी से 350 सीसी तक लिए 5453 रुपये होगा. वहीं 350 सीसी से ऊपर के दोपहिया वाहनों के लिए इंश्योरेंस प्रीमियम 13,034 रुपये होगा.