एशियाई खेल 2018 में शानदार प्रदर्शन कर रही भारतीय पुरुष हॉकी टीम को सेमीफाइनल में मलेशिया के सामने हार का सामना करना पड़ा है. इस रोमांचक मुकाबले में मलेशिया ने भारत को 7-6 से शिकस्त दी है. इस मुकाबले का फैसला पेनल्टी शूटआउट के जरिए हुआ.

इस मैच के पहले हाफ में कोई भी टीम गोल नहीं कर पाई थी. वहीं दूसरे हाफ में मैच का पहला गोल भारत ने किया. भारत के डिफेंडर हरमनप्रीत सिंह ने तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में 33वें मिनट के दौरान पेनल्टी कॉर्नर के जरिए यह गोल दागा. हालांकि 40वें मिनट में मलेशिया ने गोल कर मैच में 1-1 की बराबरी कर ली. इसके तुरंत बाद भारत ने फिर से पेनल्टी कॉर्नर के जरिए दूसरा गोल कर दिया और मलेशिया पर बढ़ता बना ली. लेकिन मैच के आखिरी पलों में एक और गोल करके मलेशिया ने फिर वापसी की और मैच को पेनल्टी शूटआउट की ओर धकेल दिया.

वहीं पेनल्टी शूटआउट में मलेशिया पांच गोल करने में सफल रहा लेकिन भारत एक कोशिश में चूक गया और इस तरह फाइनल की दौड़ से बाहर हो गया.

मलेशिया से सेमीफाइनल में मिली इस हार के बाद भारत शनिवार को कांस्य पदक के लिए खेलेगा. भारत एशियाई खेलों में आखिरी बार 1998 में स्वर्ण पदक जीता था. इस हार के साथ 2020 में टोक्यो में आयोजित होने वाले ओलम्पिक के हॉकी मुकाबलों में सीधे क्वालीफाई करने का भारत का सपना भी अधूरा रह गया है.