‘राजनाथ सिंह ने केरल की हर संभव मदद करने का भरोसा दिया है.’  

— एके एंटनी, पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

एके एंटनी ने यह बात केरल के विधायकों के एक प्रतिनिधिमंडल की केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ मुलाकात के बाद कही है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता खुद भी केरल की एक सीट से विधायक हैं और वे इस प्रतिनिधिमंडल में शामिल थे. एके एंटनी ने यह भी कहा कि इस मुलाकात में राजनाथ सिंह से विदेश मंत्रालय की उन नीतियों में भी ढील दिए जाने की अपील की गई जो किसी आपदा के दौरान विदेश से मिलने वाली वित्तीय सहायता को रोकते हैं. उधर गुरुवार को ही केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने राज्य के पुनर्निर्माण के लिए विदेश से मिलने वाली आर्थिक सहायता को लेकर कानूनी संभावनाएं तलाशने पर विचार किए जाने की बात भी कही थी. इससे पहले केरल के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की मदद के लिए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की तरफ से 700 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद का प्रस्ताव देने की खबरें आई थीं.


‘नोटबंदी का लक्ष्य सिर्फ काले धन पर प्रहार ही नहीं बल्कि अर्थव्यवस्था को औपचारिक बनाना भी था.’  

— अरुण जेटली, केंद्रीय वित्त मंत्री

अरुण जेटली ने यह बात एक ब्लॉग में नोटबंदी से देश को हुए फायदे गिनाते हुए लिखी है. इस ब्लॉग के मुताबिक, ‘नोटबंदी से इनकम टैक्स जमा कराने वालों की संख्या में भारी बढ़ोतरी हुई है. मार्च 2014 में जहां 3.8 करोड़ टैक्स रिटर्न फाइल हुए तो वहीं 2017-18 में यह संख्या बढ़कर 6.86 पर पहुंच गई. नोटबंदी के दौरान बैंकों में भारी नकदी जमा कराने वाले लाखों लोगों की अब यह पूछताछ भी की जा रही है कि उनके पास इतना पैसा कैसे और कहां से आया था.’ अरुण जेटली ने ये बातें ऐसे वक्त पर की हैं जब केंद्रीय रिजर्व बैंक की तरफ से नोटबंदी के बाद चलन से बाहर किए गए 99.3 फीसदी नोट बैंकों में वापस आने की रिपोर्ट जारी की गई है. उधर, इस रिपोर्ट को लेकर विपक्षी दलों ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमलावर रुख बना रखा है.


‘अमेरिका में रहने के बावजूद मैं ही राज्य का कामकाज संभालूंगा.’  

— मनोहर पर्रिकर, गोवा के मुख्यमंत्री

मनोहर पर्रिकर का यह बयान अपने इलाज के संबंध में एक बार फिर अमेरिका रवाना होने से पहले आया है. उनका कहना है कि वे अपने स्वास्थ्य की जांच कराने अमेरिका जा रहे हैं और अगले हफ्ते तक स्वदेश लौट आएंगे. इस दौरान राज्य के आवश्यक कार्यों को वे स्वयं अमेरिका से देखेंगे. इससे पहले बुधवार को गोवा की कोर समिति के सदस्यों ने मनोहर पर्रिकर की अनुपस्थिति में वैकल्पिक व्यवस्था तैयार करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात करने का फैसला भी किया था. मनोहर पर्रिकर इस साल की शुरुआत से ही अस्वस्थ चल रहे हैं. फरवरी के महीने में इलाज के लिए वे पहले मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती हुए थे. इसके बाद करीब तीन महीनों तक उन्होंने अमेरिका में ही रहकर अपना इलाज करवाया था.


‘भारतीय जनता पार्टी संसद का अपमान कर रही है.’  

— अहमद पटेल, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

अहमद पटेल का यह बयान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के एक बयान पर पलटवार करते हुए आया है. उनका कहना है कि संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) की मांग को लेकर जो पार्टी (भाजपा) संसद की कार्यवाही नहीं चलने देती थी वही आज इसका मजाक उड़ा रही है. अहमद पटेल का यह भी कहना है कि भाजपा को जानना चाहिए कि जेपीसी एक संवैधानिक व्यवस्था है जिसका इस्तेमाल भ्रष्टाचार की जांच के लिए किया जाता है. इससे पहले बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा का चुनौती दी थी कि वह रफाल विमान सौदे की अनियमितताओं जांच जेपीसी से कराए. इस चुनौती को लेकर अमित शाह ने राहुल गांधी पर व्यंग्य कसा था और कहा था कि ‘जेपीसी’ का अर्थ है ‘झूठी कांग्रेस पार्टी.’


‘शिवपाल यादव के समाजवादी राष्ट्रीय मोर्चा के साथ हमारा कोई गठबंधन नहीं होगा’  

— ओम प्रकाश राजभर, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष

ओम प्रकाश राजभर का यह बयान समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव के साथ हाल में हुई मुलाकातों के मद्देनजर आया है. उनका कहना है कि शिवपाल यादव के साथ उनकी कोई राजनीतिक चर्चा नहीं हुई है. ओम प्रकाश राजभर के मुताबिक उत्तर प्रदेश में उनका गठबंधन भाजपा के साथ है और आगामी चुनावों में भी यह पूर्ववत जारी रहेगा. इससे पहले बुधवार को शिवपाल यादव ने समाजवादी राष्ट्रीय मोर्चा का गठन करते हुए ऐलान किया था कि 2019 के आम चुनाव के लिए इस संगठन के जरिये वे छोटे दलों को एकजुट करेंगे.