रुपये में गिरावट रुकने का नाम नहीं ले रही है. गुरुवार को एक डॉलर की तुलना में रुपये की कीमत की 70.74 रुपये रही थी. आज इंटरबैंक फॉरेन एक्सचेंज (फॉरेक्स) मार्केट में भारतीय मुद्रा 70.95 रुपये प्रति डॉलर की कीमत पर खुली और कुछ ही देर में 71 रुपये प्रति डॉलर पर पहुंच गई. यह पहली बार है जब रुपये ने 71 का स्तर छुआ है.

फॉरेक्स मार्केट में लेन-देन करने वालों का कहना है कि महीने के अंत में तेल आयात करने वाले देशों में अमेरिकी डॉलर की मांग बढ़ती है जो रुपये की गिरावट की एक मुख्य वजह है. इसके अलावा चीन और अमेरिका के बीच चल रहे व्यापार युद्ध के चलते ब्याज दर बढ़ने की आशंका में प्रतिद्वंद्वी मुद्राओं की तुलना में डॉलर की ताकत बढ़ जाती है. इसका असर भी भारतीय रुपये पर पड़ता है.

गुरुवार को रुपये में 15 पैसे की गिरावट देखने को मिली थी. इसके चलते एक डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत 70.74 रुपये हो गई थी. बताया गया कि तेल आयातक देशों में अमेरिकी मुद्रा की मांग बढ़ने और कच्चे तेल के दामों में हो रही बढ़ोतरी के चलते रुपया लगातार गिरा है. इसके अलावा महंगाई बढ़ने और घरेलू शेयर बाजार से विदेशी पैसा निकल जाने के डर के चलते भी यह गिरावट देखने को मिल रही है.