राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के अध्यक्ष और केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने उन अटकलों को खारिज किया है कि आगामी आम चुनाव में वे राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का साथ छोड़ने जा रहे हैं. इसके साथ ही उपेंद्र कुशवाहा का कहना है कि अफवाहों और भ्रामक खबरों के जरिये कुछ लोग एनडीए में मतभेद पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं.

समाचार एजेंसी एएनआई के साथ हुई बातचीत में उपेंद्र कुशवाहा ने यह भी कहा है, ‘एनडीए में ही कुछ लोग ऐसे हैं जो नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनते नहीं देखना चा​हते. यही लोग एनडीए में टकराव की अफवाहें फैला रहे हैं.’

दिलचस्प बात यह भी है कि बीते दिनों उपेंद्र कुशवाहा ने ‘यदुवंशियों के दूध’ और ‘कुशवंशियों के चावल से खीर’ बनाने की बात कही थी. इसके बाद से ऐसी अटकलें लगाई जा रही थीं कि 2019 के आम चुनाव में एनडीए का साथ छोड़कर आरएलएसपी लालू प्रसाद यादव के राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के साथ गठजोड़ कर सकती है.

उपेंद्र कुशवाहा का ताजा बयान ऐसे समय पर आया है जब आगामी आम चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर एक दिन पहले ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने एक फॉर्मूला पेश किया था. इसके तहत बिहार में भाजपा खुद 20 सीटों पर चुनाव लड़ेगी जबकि 12 सीटें नीतीश कुमार के जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) को दी जाएंगी. साथ ही पांच सीटों पर रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) जबकि दो पर आएलएसपी के प्रत्याशी खड़े किए जाने की बात कही गई थी.