एशियाई खेल 2018 के महिला हॉकी मुकाबले के फाइनल में भारतीय टीम जापान से हार गई है. जापान ने यह रोमांचक मुकाबला 2-1 से जीत लिया. जापान की महिला हॉकी टीम ने इस प्रतियोगिता में पहली बार स्वर्ण पदक जीता है. फाइनल में हार चलते भारत को इस स्पर्धा में रजत पद से संतोष करना पड़ा है. वहीं यह मुकाबला जीत कर जापान ने टोक्यो में होने वाले ओलम्पिक में सीधे क्वालीफाई कर लिया है. इंडोनिशिया के जकार्ता में खेले गए इस फाइनल मुकाबले का पहला गोल मैच के 11वें मिनट में जापान ने किया जिसके बाद भारत ने 25वें मिनट में गोल किया और मैच में वापसी कर ली. भारत की ओर से यह गोल नेहा गोयल ने किया. पहले हाफ का खेल खत्म होने तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थीं.

मैच के दूसरे हॉफ में दोनों टीमों ने बढ़त बनाने के लिए एक दूसरे पर हमले तेज कर दिए. इस दौरान जापान की खिलाड़ियों ने बाजी मारते हुए मैच के 44वें मिनट में पेनल्टी शूटआउट में गोल करते हुए भारत पर बढ़त बना ली. जापान यह बढ़त मैच के अंत तक बनाए रखने में सफल रहा. हालांकि इस बीच भारत को कई मौके मिले लेकिन वह मौकों को भुनाने में कामयाब नहीं रहा. इससे पहले गुरुवार को भारतीय पुरुष हॉकी की टीम भी सेमीफाइल में मलेशिया से हार गई थी. शनिवार को कांस्य पदक के लिए भारत और पाकिस्तान का मुकाबला होना है.