इंडोनेशिया में खेले जा रहे 18वें एशियाई खेलों की हॉकी प्रतिस्पर्धा में भारत को कांस्य पदक जीतने में कामयाबी मिली है. शनिवार को खेले गए इस मुकाबले में भारत ने अपने चिर-परिचित प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को एक के मुकाबले दो गोल से शिकस्त दी. इन एशियाई खेलों के अपने आखिरी मुकाबले में पहले ही क्षण से भारतीय टीम ने आक्रामक रुख अपनाते हुए हुए पाकिस्तानी टीम को दबाव में लाने की कोशिश की.

भारतीय टीम को इसका फायदा भी मिला और खेल के चौथे ही मिनट में आकाशदीप ने शानदार फील्ड गोल दागते हुए भारत को 1-0 की बढ़त दिला दी. इसके बाद दूसरे और तीसरे क्वॉर्टर में दोनों टीमों को पैनल्टी कॉर्नर के अलावा जमीनी गोल दागने के भी कुछ मौके मिले लेकिन कोई भी इन्हें नहीं भुना सका.

इसके बाद मुकाबले के चौथे व आखिरी क्वॉर्टर के तीसरे मिनट में भारत को पैनल्टी कॉर्नर मिला. इस बार बिना कोई गलती किए हरमनप्रीत ने गेंद को पाकिस्तानी गोल में पहुंचा दिया. इसके साथ ही भारत की बढ़त 2-0 हो की गई. दो गोल से पिछड़ने के बाद पाकिस्तान ने जवाबी हमले बढ़ा दिए. इसी दौरान मोहम्मद अतीक ने भारत पर गोल दागते हुए स्कोर को 2-1 कर दिया. खेल के बाकी बचे समय में कोई अन्य गोल न होने से भारत ने इस मुकाबले को अपने नाम कर लिया.

इन एशियाई खेलों की शुरुआत से ही हॉकी स्पर्धा में भारत को स्वर्ण पदक का दावेदार माना जा रहा था. लीग मुकाबलों में भी अद्भुत प्रदर्शन करते हुए भारत ने इंडोनेशिया को 17-0, हांग कांग को 26-0, जापान को 8-0 कोरिया को 5-3 और श्रीलंका को 20-0 से हराया था. सेमीफाइनल मुकाबले में लेकिन भारतीय टीम मलेशियाई बाधा को तोड़ पाने में असफल रही थी. पैनल्टी शूटआउट के जरिये मैच का नतीजा निकालने वाले उस रोमांचक मुकाबले में मलेशिया ने 6-7 से बाजी मारी थी.