भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के चौथे मुकाबले को अपने नाम करते हुए इंग्लैंड ने इस शृंखला में भी 3-1 की निर्णायक बढ़त बना ली है. साउथ हैम्पटन में खेले गए इस मैच में अपनी दूसरी पारी के आधार पर इंग्लैंड ने भारत को जीत के लिए 245 रन की चुनौती दी थी. लेकिन भारतीय टीम 184 के योग पर ही आउट हो गई. इस तरह इंग्लैंड ने यह मुकाबला 60 रन के अंतर से जीत लिया.

इस हार के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली का कहना था कि टीम के जीतने के पूरे चांस थे. मैच के बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘हमारे पास जीतने का मौका था, लेकिन हमें वह शुरुआत नहीं मिली जो हम चाहते थे.’ विराट ने माना की इंग्लैंड के गेंदबाजों ने भारत पर लगातार दबाव बनाए रखा.

जीत के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही. केएल राहुल के रूप में भारत को पहला झटका लगा. पहली पारी में शतक जड़ने वाले चेतेश्वर पुजारा दूसरी पारी में कमाल नहीं दिखा सके और पांच रन के व्यक्तिगत स्कोर पर अपना विकेट गंवा बैठे. इसके कुछ ही देर बाद शिखर धवन भी पैवेलियन लौट गए. कप्तान विराट कोहली ने 58 जबकि अजिंक्य रहाणे ने 51 रन की पारी खेली. उनके अलावा भारत के अन्य बल्लेबाजों ने निराश ही किया.

इससे पहले टॉस जीतने के बाद इस मुकाबले में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी का निर्णय किया था. लेकिन शानदार गेंदबाजी करते हुए भारतीय गेंदबाजों ने मेजबान टीम को 245 रन पर ही समेट दिया था. पहली पारी के आधार पर भारत को इंग्लैंड पर 27 रन की बढ़त पाने में भी सफलता मिली थी. लेकिन दूसरी पारी में भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा.

इंग्लैंड की तरफ से शानदार गेंदबाजी करते हुए मोइन अली ने भारत के चार विकेट चटकाए. जेम्स एंडरसन और बेन स्टोक्स ने दो-दो बल्लेबाजों का पवेलियन लौटाया जबकि स्टुअर्ट ब्रॉड और सैम करन ने एक-एक विकेट हासिल किए. गेंद और बल्ले से कमाल दिखाने वाले मोइन अली को मैन आॅफ द मैच चुना गया.