डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये में गिरावट सोमवार को भी जारी रही. अब रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अबतक के सबसे निचले स्तर 71.21 पर पहुंच गया है. इससे पहले 31 अगस्त को रुपया, डॉलर के मुकाबले 71 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया था. वैसे रुपये में गिरावट अगस्त की शुरुआत से लगातार जारी है. अमेरिका द्वारा तुर्की के उत्पादों पर भारी-भरकम आयात शुल्क लगाने से सभी उभरती अर्थव्यवस्था वाले देशों की मुद्राओं में गिरावट देखी जा रही है, जिसका असर रुपये पर भी पड़ रहा है.

तेल आयातक देशों में अमेरिकी मुद्रा की मांग बढ़ने और कच्चे तेल के दामों में हो रही बढ़ोतरी के चलते भी रुपया लगातार गिरा है. सोमवार को कच्चे तेल की कीमत 0.57 फीसदी बढ़कर 78.08 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गई है जिसके कारण भारत में भी पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी देखी गई. वहीं बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सूचकांक सेंसेक्स भी 332.55 अंक गिरकर 38,312.52 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 98.15 अंक गिरकर 11,582.35 अंक पर बंद हुआ.