इंडोनेशिया में संपन्न हुए 18वें एशियाई खेलों के पदक विजेताओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अपने निवास स्थान पर मुलाकात की है. इस दौरान उन्होंने कहा कि इन खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन से दुनियाभर में भारत का गौरव बढ़ा है. इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई की भविष्य में भी इन खिलाड़ियों का पूरा ध्यान अपने-अपने खेलों पर केंद्रित रहेगा.

द टाइम्स आॅफ इंडिया के मुताबिक नरेंद्र मोदी ने इस दौरान खिलाड़ियों को अपने प्रदर्शन में सुधार लाने के लिए तकनीक का सहयोग लेने का सुझाव भी दिया. उन्होंने कहा कि तकनीक के इस्तेमाल से खिलाड़ी अपने प्रदर्शन का सटीक विश्लेषण करते हुए अपनी कमियों में सुधार ला सकते हैं. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अब छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों से भी प्रतिभाएं निकलकर देश का नाम रोशन कर रही हैं.

नरेंद्र मोदी के मुताबिक, ‘शहरों के साथ ग्रामीण इलाकों में भी प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है. इन प्रतिभाओं को सिर्फ सही दिशा दिए जाने की जरूरत है.’ उन्होंने यह भी कहा कि निर्णायक मुकाबलों में अपने प्रतिस्पर्धी पर जीत हासिल करने के लिए हर खिलाड़ी को दिन-प्रतिदिन कड़ी मेहनत और अथक परिश्रम करना पड़ता है जिससे बाहर की दुनिया के लोग अनजान रहते हैं. उन्होंने उम्मीद जताई कि आगामी ओलंपिक खेलों में देश का मान बढ़ाने के लिए भारतीय खिलाड़ी अभी से ही कड़ा अभ्यास शुरू कर देंगे.

इसी महीने इंडोनेशिया के जकार्ता और पालेमबंग में संपन्न एशियाई खेलों के इस 18वें संस्करण में भारत ने अब तक का अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए कुल 69 पदक जीते थे. इससे पहले इंचियॉन- 2010 में आयोजित एशियाई खेलों में भारत को सबसे ज्यादा 65 पदक हासिल करने में कामयाबी मिली थी.