‘रफाल लड़ाकू विमान से भारत की ताकत में जबरदस्त इजाफा होगा.’  

— एसबी देव, उप वायुसेना प्रमुख

एसबी देव का यह बयान रफाल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर लगाए जा रहे राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोपों के बीच आया है. उनका कहना है कि रफाल एक शानदार लड़ाकू विमान है और इसके आने से भारत को अपने दुश्मनों पर अभूतपूर्व बढ़त हासिल करने में मदद मिलेगी. रफाल विमानों को हासिल करने के लिए भारत और फ्रांस के बीच 2016 में सौदा हुआ था. फ्रांक की कंपनी डसाल्ट एविऐशन की तरफ से सितंबर 2019 से इन विमानों की आपूर्ति शुरू कर दी जाएगी.


‘केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में ब्राह्मण को विदेश मंत्री तो बनाया गया पर उन्हें कोने में खूंटे से लगा दिया गया.’  

— रणदीप सिंह सुरजेवाला, कांग्रेस के प्रवक्ता

रणदीप सिंह सुरजेवाला का यह बयान गुरुवार को सवर्णों द्वारा भारत बंद के आह्वान को देखते हुए आया है. इसके साथ ही हरियाणा के कुरुक्षेत्र में एक कार्यक्रम के दौरान ‘ब्राह्मण कार्ड’ खेलते हुए उन्होंने यह भी कहा कि अगले चुनाव में अगर कांग्रेस की सरकार बनती है तो हरियाणा में ब्राह्मणों के लिए 10 फीसदी का आरक्षण भी व्यवस्था की जाएगी. इस दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी ने हरियाणा से ताल्लुक रखने वाली ब्राह्मण बेटी सुषमा स्वराज को विदेश मंत्री तो बनाया लेकिन अपनी विदेश यात्राओं के दौरान उन्हें कभी अपने साथ विदेश नहीं ले गए.


‘कांग्रेस ने अगर देश का समग्र विकास किया है तो यह विकास जन-जन तक क्यों नहीं पहुंचा?’  

— अमित शाह, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष

अमित शाह ने यह बात बुधवार को छत्तीसगढ़ में भाजपा की ‘अटल विकास यात्रा’ को हरी झंडी दिखाते हुए कही. इस दौरान कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि 60 सालों के शासन में जो पार्टी देश के घर-घर तक बिजली नहीं पहुंचा सकी, जो देश के हर नागरिक को कल्याणकारी योजनाओं में शामिल नहीं कर सकी, वह आज भाजपा के चार वर्षों के शासन का हिसाब मांग रही है. इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने यह भी कहा कि भाजपा शासन का हिसाब मांगने से पहले राहुल गांधी को अपने परिवार के चार दशकों के शासन का हिसाब देना चाहिए.


‘गुरु के सम्मान में ताली न बजाने वाले को अगले जन्म में घर-घर जाकर ताली बजानी पड़ेगी.’  

— कुंवर विजय शाह, मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री

कुंवर विजय शाह ने यह बात शिक्षक दिवस के मौके पर आयो​जित एक कार्यक्रम के दौरान कही. इसी कार्यक्रम में उन्होंने यह भी कहा कि गुरु को गोविंद यानी ईश्वर से बड़ा माना जाता है इसलिए गुरुओं के सम्मान में तालियां बजाने में कोई कसर नहीं रहनी चाहिए. उनके ऐसा कहने के बाद जब कार्यक्रम में उपस्थित लोगों की तरफ से जोरदार तालियां बजीं तो उन्होंने कहा कि इससे साबित हो गया है कि अगले जन्म में घर-घर जाकर कोई भी ताली नहीं बजाना चाहता.


‘कुछ लोग अपनी काबिलियत नहीं बल्कि सिर मुंडवाकर शिक्षक की नौकरी पाना चाहते हैं.’  

— योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

योगी आदित्यनाथ का यह बयान शिक्षक दिवस के मौके पर उत्तर प्रदेश के कुछ शिक्षकों द्वारा उनका मानदेय बहाल करने की मांग को लेकर सिर मुंडवाए जाने की तरफ इशारा करते हुए आया है. योगी आदित्यनाथ का कहना है कि उत्तर प्रदेश सरकार को प्राथमिक शिक्षकों की करीब 97 हजार भर्तियां करनी हैं, लेकिन इन शिक्षकों की भर्ती उनकी योग्यता के आधार पर की जाएगी जिससे प्रदेश की शिक्षा-व्यवस्था को पुख्ता बनाया जा सके.