व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स के मुताबिक उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग-उन ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को एक चिट्ठी लिखी है. इस चिट्ठी में उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ दोबारा मुलाकात करने की इच्छा जताई है. उत्तर कोरिया के इस कदम को ‘सकारात्मक’ बताते हुए सोमवार को सारा सैंडर्स ने पत्रकारों से कहा, ‘उत्तर कोरिया ने इस चिट्ठी के जरिये कोरियाई प्रायदीप को परमाणु हथियारों से मुक्त कराने को लेकर अपनी प्रतिबद्धता भी जाहिर की है.’

द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इससे पहले बीते शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि किम जोंग-उन ने उन्हें एक पत्र लिखा है जिसके मिलने का वे इंतजार रहे हैं. उधर, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो के पास अब इस पत्र के पहुंच जाने के बाद अमेरिका ने एक बार फिर डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग उन की बैठक कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. इससे पहले किम जोंग-उन और डोनाल्ड ट्रंप के बीच इसी साल 12 मई को सिंगापुर में पहली मुलाकात हुई थी. तब उस मुलाकात को ‘सफल’ बताते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने किम जोंग-उन के साथ जल्दी ही दोबारा मुलाकात करने संबधी बयान भी दिया था.

उधर, कोरियाई प्रायदीप में स्थायी शांति और परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर किम जोंग-उन और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन के बीच प्योंगयांग में अगले हफ्ते तीसरी मुलाकात होने जा रही है. कोरियाई देशों की इस द्विपक्षीय बैठक में अमेरिका को शामिल करते हुए मून जे-इन इसे त्रिपक्षीय बनाने के इच्छुक थे. हालांकि इस बीच डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा है कि उन्हें नहीं लगता कि अमेरिकी राष्ट्रपति इस तरह की किसी बैठक में शामिल होंगे.