अगर किसी पार्टी की तरफ से दो उम्मीदवार नामांकन पर्चा दाखिल करते हैं तो किसे आधिकारिक उम्मीदवार माना जाएगा? किसी उम्मीदवार की जमानत कब जब्त होती है? अगर किसी व्यक्ति को निचली अदालत से तीन साल की सजा मिली है और हाई कोर्ट ने उसे जमानत दे दी है तो क्या वह चुनाव लड़ सकता है?

ये उनमें से कुछ सवाल हैं जो मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए अधिकारियों की तैयारी के आकलन के लिए हुई परीक्षा में पूछे गए थे. 58 प्रतिशत अधिकारी इस परीक्षा में फेल हो गए. चुनाव आयोग ने बीती 18 अगस्त को चुनाव रिटर्निंग और सहायक रिटर्निंग अधिकारियों के लिए लिखित परीक्षा आयोजित की थी. रिपोर्ट के अनुसार इस परीक्षा में राज्य के 561 अधिकारियों ने हिस्सा लिया था. लेकिन इनमें से 238 ही परीक्षा पास कर पाए.

मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी वीएल कांताराव ने बताया कि आयोग एक बार फिर से परीक्षा आयोजित करवाएगा. दोबारा फेल होने पर अधिकारियों को इस बार चुनाव संबंधी कार्यों से दूर रखा जाएगा. राज्य चुनाव आयोग ने राज्य सरकार को पत्र लिख कर कहा है कि ऐसे अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई की जाए.

चुनाव आयोग की परीक्षा में फेल हुए एक राजस्व विभाग के अधिकारी ने बताया कि उनके ऊपर पहले से ही काम का अतिरिक्त बोझ है ऐसे में चुनाव आयोग परीक्षा करवाने की बजाए उन्हें यूजर गाइड दे ताकि वे निष्पक्ष चुनाव आयोजित करवा पाएं. वहीं एक और दूसरे अधिकारी ने बताया कि चुनाव आयोग की परीक्षा एक घंटे की थी लेकिन उन्हें सिर्फ आधा घंटा दिया गया जिसके चलते अधिकतर अधिकारी इस परीक्षा में फेल हो गए.