पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में दुर्गा पूजा के आयोजन के लिए पूजा समितियों को 28 करोड़ रुपये का वित्तीय अनुदान देने की घोषणा की है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक सोमवार को कोलकाता में पुलिस और दुर्गा पूजा आयोजकों की एक बैठक दौरान ममता बनर्जी ने ‘सामुदायिक विकास कार्यक्रम’ के तहत यह राशि मुहैया कराए जाने की घोषणा की. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि सार्वजनिक पूजा पंडालों को अग्निशमन विभाग यानी फायर ब्रिगेड की तरफ से लाइसेंस हासिल करने के लिए भी कोई शुल्क नहीं चुकाना होगा.

पश्चिम बंगाल में 28 हजार पूजा समितियां हैं. इस तरह देखा जाए तो राज्य की तरफ से हर एक पूजा समिति को 10 हजार रुपये की वित्तीय सहायता मिल सकेगी. एनडीटीवी के मुताबिक बैठक के दौरान ममता बनर्जी ने यह भी कहा, ‘दुर्गा पूजा को लेकर मैंने एक गीत लिखा है जिसे अरूप बिस्वास ने कंपोज किया है. मुझे उम्मीद है कि पूजा समितियों को यह गीत जरूर पसंद आएगा.’ इससे पहले बीते साल भी ममता बनर्जी ने बांग्ला में ‘बोईचित्रेर मुक्तो गांथा एकोतार मोनिहार...’ गीत लिखा था. तब इस गीत को प्रसिद्ध गायिका श्रेया घोषाल ने अपनी आवाज दी थी.

उधर मुख्यमंत्री के इस फैसले को टाइम्स नाउ ने ‘हिंदू कार्ड’ के रूप में देखते हुए लिखा है कि राज्य के हिंदू वोटरों को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पक्ष में जाता देखकर ममता बनर्जी घबराई हुई लगती हैं. अखबार के मुताबिक इसलिए ही हिंदुओं को रिझाने के लिए उन्होंने दुर्गा पूजा समितियों के लिए वित्तीय मदद की घोषणा की है. ममता बनर्जी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर भाजपा की तरफ से पहले से ही मुस्लिम तुष्टिकरण के आरोप लगाए जाते रहे हैं. बीते साल मुहर्रम और दुर्गा पूजा मूर्ति विसर्जन के एक ही दिन पड़ने की वजह से प्रदेश सरकार ने मूर्तियों के विसर्जन कार्यक्रमों पर कई तरह की बंदिशें लगा दी थीं. तब भाजपा ने राज्य सरकार के इस फैसले को हिंदुओं का अपमान करने वाला बताया था. यह मामला कोलकाता हाईकोर्ट भी पहुंच गया था.