हैदराबाद के सातवें निज़ाम ओस्मान अली खान बहादुर सोने के रत्नजड़ित टिफिन में भोजन करते थे या नहीं यह कोई नहीं जानता. मगर उनके पास यह टिफिन था ज़रूर जो हैदराबाद के संग्रहालय में उनकी अन्य बेशकीमती चीजों के साथ रखा गया था. इनमें टिफिन की कीमत ही 100 करोड़ रुपए के आसपास बताई जाती है, जाे इसी महीने तीन-चार तारीख़ की दरम्यानी रात चोरी हो गया था. निज़ाम की कुछ अन्य कीमतें चीजें भी चोरी हुई थीं. इन सभी को पुलिस ने इसी सोमवार को बरामद कर लिया. दो चाेरों- ग़ौस पाशा (23) और मोहम्मद मुबीन (24) को भी पकड़ लिया. इस सफलता के साथ पुलिस को यह दिलचस्प जानकारी भी मिली कि ये दोनों लड़के एक हफ़्ते से निज़ाम के सोने के टिफिन में भोजन कर रहे थे. साथ ही चुराई हुई अन्य बेशकीमती चीजों का भी ऐसे ही उपभोग कर रहे थे.

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पाशा और मुबीन दोनों बचपन के दोस्त और दूर के रिश्तेदार हैं. उन्हें राजे-रजवाड़ों की तरह ऐशो-आराम की ज़िंदगी जीने का शौक है. इसके लिए उन्होंने कमाई के आड़े-तिरछे तरीके अपना लिए. पुलिस को संदेह है कि इनमें मुबीन का ताल्लुक़ अंतरराष्ट्रीय ब्लैक मार्केट से भी हो सकता है. उसने कुछ दिनों तक साऊदी अरब में काम किया है. पुलिस के अनुसार हैदराबाद के राजेंद्रनगर इलाके में रहने वाले इन लड़कों में से मुबीन अक्सर निज़ाम के संग्रहालय में घूमने के लिए आया करता था. यहां रखी बहुमूल्य चीजों काे देखकर वह ख़ासा प्रभावित था और इसी रौ में एक दिन उसने पाशा के साथ मिलकर इन चीजों को चुराने की योजना बना ली.

पुलिस ने बताया कि दोनों ने चोरी से पहले कई बार अपने स्तर पर योजना का परीक्षण करके भी देखा. फिर उसे अंज़ाम दिया. जब उन्हें चोरी करनी थी उस रात वे माता की खिड़की वाली तरफ स्थित नज़दीकी इमारत के छज्जे से होते हुए संग्रहालय की छत तक पहुंचे. इसके बाद दो गुणा चार के आकार की रोशनदान की खिड़की से मुबीन अंदर गैलरी में दाख़िल हुआ. जबकि पाशा बाहर पहरेदारी करता रहा. भीतर मुबीन ने सोने का टिफिन, तश्तरी का सैट, चम्मच, कप, वग़ैरह चुराया और भाग निकला. पुलिस की मानें तो दोनों सोने के केस में रखी क़ुरान भी चुराना चाहते थे, लेकिन तभी अज़ान सुनकर उन्होंने यह इरादा छोड़ दिया. शहर के पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार के मुताबिक चोरी के बाद दोनों बस से मुंबई पहुंचे. वहां एक होटल में जा छिपे. मुंबई में वे अभी इस चोरी के माल काे ठिकाने लगाने के लिए ख़रीदार ढूंढ ही रहे थे कि तभी पुलिस ने उन्हें धर दबोचा. उन्हें फिलहाल पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.