अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाले में आरोपित पूर्व वायुसेना अध्यक्ष एसपी त्यागी को राहत मिली है. बुधवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी. खबरों के मुताबिक इस मामले में आरोपित उनके दो भाइयों और दिल्ली के ही एक वकील गौतम खेतान को भी जमानत मिल गई है. हालांकि कोर्ट में अनुपस्थित होने के कारण मामले में आरोपित कार्लो गेरोसा और जीआर हेश्के को जमानत नहीं दी गई. गेरोसा और हेश्के इस वीवीआईपी हेलिकॉप्टर सौदे के बिचौलिए थे. कोर्ट ने इस मामले में कुल 18 लोगों को आरोपित बनाया है.

अगस्ता वेस्टलैंड एक इतालवी हेलिकॉप्टर निर्माता कंपनी है जिससे भारत 12 वीवीआईपी हेलिकॉप्टर खरीदने वाला था. लेकिन 2013-14 में इस सौदे में घोटाले के आरोप लगने के बाद तत्कालीन केंद्र सरकार (यूपीए-2) ने इस समझौते को रद्द कर दिया था. नौ दिसंबर 2016 को सीबीआई ने एसपी त्यागी और दो अन्य को इस सौदे के लिए रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था. सीबीआई का कहना था कि 3,767 करोड़ रुपये के इस सौदे का 12 फीसदी रिश्वत के तौर पर दिया गया था. हालांकि बाद में ये सभी जमानत पर छोड़ दिए गए थे. लेकिन पिछले साल दिसंबर में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दाखिल शिकायत के बाद नौ दिसंबर 2017 को त्यागी बंधुओं और गौतम खेतान को फिर से गिरफ्तार कर लिया गया. इनकी गिरफ्तारी के बाद इसी साल 18 जुलाई को प्रवर्तन निदेशालय ने एसपी त्यागी, उनके दो चचेरे भाइयों और वकील गौतम खेतान और अन्य के खिलाफ पूरक आरोप पत्र दाखिल किया था.