डॉलर के मुकाबले लगातार गिर रहे रुपये में बुधवार को 100 पैसों की मजबूती आई. एक समय बुधवार को रुपये का भाव डॉलर के मुकाबले 72.91 रुपये पहुंच चुका था जो शाम को को 71.91 रुपये पर आ गया. दोपहर बाद मीडिया में रिपोर्ट आई कि प्रधानमंत्री इस सप्ताह आर्थिक समीक्षा बैठक करेंगे जिसमें रुपये में आ रही गिरावट और कच्चे तेल पर चर्चा होगी. इसके बाद रुपये में मजबूती देखने को मिली. फाइनेंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय मुद्रा के ऊपर बढ़ती महंगाई दर, वैश्विक ट्रेड वॉर और कच्चे तेल की कीमतों में लगातार बढ़ोत्तरी का दबाव अभी भी बना हुआ है. विशेषज्ञों का दावा है कि इस दबाव के कारण रुपया अभी और गिरकर डॉलर के मुकाबले 74 रुपये तक पहुंच सकता है.

इस साल डॉलर के मुकाबले रुपया 15 प्रतिशत कमजोर हो चुका है. इस साल के शुरुआती सप्ताह में एक डॉलर की कीमत 63.33 रुपये थी, जो सितंबर में लुढ़कर 72.91 रुपये तक पहुंच गई. रुपये में तेजी के साथ बुधवार को भारतीय शेयर बाजारों में भी तेजी देखने को मिली. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सूचकांक सेंसेक्स 304.83 अंकों की तेजी के साथ 37,717.96 और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 2.40 अंकों की तेजी के साथ 11,369.90 पर बंद हुआ.