रुपये में गिरावट थमने के साथ बुधवार को केंद्र सरकार के लिए एक और राहत भरी खबर आई. देश में खुदरा महंगाई दर (सीपीआई) गिरकर 10 महीने के निचले स्तर पर आ गई है. केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक अगस्त में खुदरा महंगाई दर 3.69 प्रतिशत रही. खाद्य पदार्थों की महंगाई दर में भी 0.29 प्रतिशत की कमी देखने को मिली है. इसके साथ ही अगस्त में औद्योगिक उत्पादन में भी बढ़ोत्तरी दर्ज हुई है. औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) जुलाई में 6.6 प्रतिशत रहा. बीते साल इसी महीने यह आंकड़ा एक फीसदी था.

सीएसओ की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पहली बार खुदरा महंगाई दर भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा तय सीमा (चार प्रतिशत) से नीचे है. इससे पहले अक्टूबर में 2017 में खुदरा महंगाई दर 3.58 प्रतिशत से नीचे दर्ज की गई थी. खुदरा महंगाई दर में कमी फल, सब्जियों सहित अन्य खाद्य पदार्थों के सस्ता होने के कारण आई है. इससे पहले बुधवार को रुपये में डॉलर के मुकाबले 100 पैसे की मजबूती देखने को मिली थी.