राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जस्टिस रंजन गोगोई को देश का अगला मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया है. सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्‍यायाधीश दीपक मिश्रा ने अपने उत्तराधिकारी के तौर पर रंजन गोगोई के नाम की सिफारिश की थी. जस्टिस दीपक मिश्रा दो अक्टूबर को रिटायर हो रहे हैं. रंजन गोगोई तीन अक्टूबर को भारत के मुख्य न्यायाधीश के पद की शपथ लेंगे. जस्टिस गोगोई अगले साल नवम्बर तक मुख्य न्यायाधीश के पद पर रहेंगे. जस्टिस रंजन गोगोई और सुप्रीम कोर्ट के तीन अन्य वरिष्ठ जजों ने 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट की कार्यप्रणाली में गड़बड़ियों की बात कहते हुए एक अप्रत्याशित प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. इसके बाद से उनके मुख्य न्यायाधीश बनने के बारे में कयास लगने लगे थे.

मूल रूप से असम के रहने वाले जस्टिस गोगोई का जन्म 18 नवंबर, 1954 को हुआ था और उन्होंने 1978 से वकालत शुरू की थी. उन्हें 2001 में गुवाहाटी हाई कोर्ट में जज के रूप में नियुक्ति मिली थी. इसके नौ साल बाद उनका ट्रांसफर पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट में हुआ. फरवरी 2011 जस्टिस गोगोई पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने. 2012 के दौरान उन्हें सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति मिली थी.