दिल्ली यूनिवर्सिटी (डीयू) में इस बार के छात्र संघ चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) को कामयाबी मिली है. उसके उम्मीदवारों ने छात्र संघ अध्यक्ष सहित तीन पदों पर जीत हासिल की है.

ख़बरों के मुताबिक एबीवीपी के अंकिव बसोया 1,744 वोट के अंतर से जीत हासिल कर डीयू छात्र संघ के अध्यक्ष बने हैं. उनके सहयोगी शक्ति सिंह 7,673 मतों से जीतकर उपाध्यक्ष के पद पर काबिज़ हुए. सचिव का पद कांग्रेस से संबद्ध छात्र इकाई- भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) के ख़ाते में गया है. उसके उम्मीदवार आकाश चौधरी ने यह पद हासिल किया है.

संयुक्त सचिव का पद एबीवीपी की ज्योति की झोली में गया है. इन चुनाव में मुख्य मुकाबला एबीवीपी और एनएसयूआई के बीच ही था. चुनाव के दौरान गड़बड़ी के आरोप भी लगे. एनएसयूआई के इक़लौते विजेता उम्मीदवार आकाश ने आरोप लगाया कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में गड़बड़ी की गई. सात ईवीएम के वोट मिले ही नहीं. इससे मतगणना कुछ देर रोकनी पड़ी.

आरोपों की वज़ह से चुनाव आयोग को भी सफाई देनी पड़ी की छात्र संघ चुनाव के लिए ईवीएम की अापूर्ति उसने नहीं की थी. हालांकि कुछ देर बाद दोनों पक्षों में सुलह हो गई और मतगणना का काम अागे बढ़ सका. इन चुनावों के लिए कुल 23 उम्मीदवार मैदान में थे. जबकि यूनिवर्सिटी के 44.46 फीसदी छात्र-छात्राओं ने इनमें से अपने प्रतिनिधि चुनने के लिए मताधिकार का इस्तेमाल किया.