मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की बरकतुल्लाह यूनिवर्सिटी (बीयू) ने एक दिलचस्प कोर्स शुरू किया है. डिग्री नहीं बल्कि इसके पूरे हो जाने के बाद सफल अभ्यर्थियों को प्रमाण पत्र दिया जाएगा. आदर्श बहू का प्रमाण पत्र. यानी जाहिर तौर पर यह काेर्स छात्राओं के लिए ही है जिसकी अवधि तीन महीने की रखी गई है.

द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक बीयू के उपकुलपति प्रोफेसर डीसी गुप्ता ने इसकी पुष्टि की है. उनके मुताबिक, ‘विश्वविद्यालय के तौर पर हमारी समाज के प्रति भी ज़िम्मेदारी बनती है. हमें यह भी देखना है कि हम सिर्फ अकादमिक गतिविधियों तक सीमित न रह जाएं बल्कि समाज की बेहतरी में अपनी रचनात्मक भूमिका निभा सकें. इसीलिए यह कोर्स शुरू करने का फैसला किया गया है. इसके तहत छात्राओं को शादी के बाद ससुराल के नए वातावरण में तालमेल बनाने के तौर-तरीके सिखाए जाएंगे. ताकि वे परिवार को अटूट रखने में अपनी भूमिका निभा सकें. अपना योगदान दे सकें. इससे समाज का भी स्वाभाविक तौर पर हित ही होग.’

गुप्ता के अनुसार, ‘यह कोर्स अगले अकादमिक सत्र से शुरू होगा. यह महिला सशक्तिकरण में भी मददगार साबित होगा. कोर्स शुरू में पायलट प्रोजेक्ट की तरह तीन विभागों- सामाजिक विज्ञान, मनोविज्ञान व महिला शिक्षा से संबद्ध रहेगा. पहले बैच में 30 छात्राओं को प्रवेश दिया जाएगा. प्रवेश के लिए पात्रता की शर्ताें आदि पर अभी विचार किया जा रहा है.’ वैसे सूत्रों की मानें तो इस बाबत बीयू प्रशासन छात्राओं के परिजनों से भी बातचीत करने वाला है. कोर्स को आकार देने में उनकी राय शामिल की जाएगी.