रेल यात्रियों को जल्दी ही एक अच्छी खबर मिल सकती है. द टाइम्स आॅफ इंडिया के मुताबिक रेलवे अपनी 40 प्रीमियम ट्रेनों में फ्लेक्सी किराये की योजना खत्म करने पर विचार कर रहा है. इसके अलावा फ्लेक्सी किराये के तहत आने वाली अन्य 102 सुपर फास्ट ट्रेनों के बढ़े किरायों में यात्रियों को 50 फीसदी तक की छूट दिए जाने की व्यवस्था भी देखने को मिल सकती है.

भारतीय रेल ने शताब्दी, राजधानी और दूरंतो जैसी अपनी प्रीमियम और सुपर फास्ट ट्रेनों में नौ सितंबर 2016 को फ्लेक्सी किराया योजना लागू की थी. इस योजना के तहत एक निश्चित संख्या में सीटों की बुकिंग होने के बाद किराये में 10 से 50 फीसदी वृद्धि किए जाने की व्यवस्था की गई थी. रेलवे की इस योजना की वजह से कई बार ट्रेनों के किराये हवाई यात्रा से भी महंगे हो जाते हैं. इसके चलते कई बार खबरें आईं कि प्रीमियम ट्रेनों में काफी सीटें खाली जा रही हैं.

इसी बात को ध्यान में रखते हुए अब इस योजना में संशोधन पर विचार हो रहा है. रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक किरायों में छूट संबंधी नई नीति को लागू करने के लिए एक नया ग्रेडिंग सिस्टम भी तैयार किया जा रहा है. इस अधिकारी का यह भी कहना था, ‘यह फैसला रेलवे और यात्रियों दोनों के हितों को ध्यान में रखते हुए किया गया है. नई व्यवस्था से जहां ट्रेनों की सीटों का अधिकतम उपयोग होगा तो वहीं यात्रियों पर भी किराये का बोझ कम होगा.’