तमिलनाडु सरकार द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई का प्रस्ताव राज्यपाल को भेजने के पांच दिन बाद महेश्वरी देवी (दोषियों में से एक की मां) ने मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी और राज्य के कानून मंत्री सीवी षणमुगम को पत्र लिखकर धन्यवाद कहा है. यह पत्र पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्या में शामिल 72 वर्षीय सुतिरेंद्र राजा उर्फ संतन की मां महेश्वरी देवी ने लिखा है. उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित को भी पत्र लिखकर यह गुजारिश की है कि उनके पुत्र को अंतिम दिनों में उनके साथ रहने दिया जाए.

मुख्यमंत्री को भेजे अपने पत्र में महेश्वरी ने लिखा है, ‘मेरे पुत्र को रिहा करवाने के आपके प्रयासों के लिए मैं जिंदगीभर आपकी ऋणी रहूंगी.’ उन्हें पत्र में पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता का जिक्र करते हुए कहा है कि उन्होंने ही राजीव गांधी के हत्यारों को माफ करने का निर्णय लिया था. महेश्वरी देवी ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और राज्यपाल को भेजे अपने पत्र में संतन की रिहाई की गुजारिश करते हुए लिखा है कि उन्होंने साल 1991 में अंतिम बार अपने पुत्र को देखा था.

उन्होंने अपने पत्र में यह भी कहा है कि सिर्फ उनका बेटा ही नहीं बल्कि पूरा परिवार पिछले 27 सालों से जारी उसकी सजा को भुगत रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में महेश्वरी देवी लिखती हैं, ‘मैं अपने आखिरी दिनों को अपने बेटे के साथ बिताना चाहती हूं. कृपया एक मां का दर्द समझें और मेरे बेटे को अंतिम दिनों में मेरे साथ रहने की अनुमति दें.’