कूरियर या डाक के बजाय एचडीएफसी बैंक ने नियमों का उल्लंघन करने वाले अपने ग्राहकों को ई-मेल और वॉट्सएप से नोटिस भेजने की शुरुआत की है. एचडीएफसी बैंक ने हाल ही में ई-मेल और वॉट्सएप से करीब 250 नोटिस भेजे हैं. इस निजी बैंक के एक अधिकारी के मुताबिक लोग जल्दी-जल्दी अपना घर बदल लेते हैं और वे अपना पता बैंक में अपडेट नहीं करवाते. लेकिन, उनका ई-मेल एड्रेस और मोबाइल नंबर सामान्य तौर पर नहीं बदलता. ऐसे में ई-मेल और वॉटसएप के जरिए नोटिस भेजना ज्यादा कारगर है. इस अधिकारी की एक दलील यह भी है कि कई मामलों में डाक से भेजे जाने पर ग्राहक नोटिस प्राप्त होने से साफ इनकार कर देते हैं.

एचडीएफसी बैंक के चेक बाउंस होने से जुड़े ही करीब 60 लाख मामले अदालतों में हैं. इस बात का हवाला देते हुए एचडीएफसी बैंक के इस अधिकारी का यह भी कहना है कि बैंक देश की विभिन्न अदालतों में इस बात को प्रमुखता से कह रहा है कि ई-मेल और वॉट्सएप जैसे डिजिटल माध्यमों से नोटिस और समन भेजे जाने चाहिए.