भारत-पाकिस्तान के बीच करतारपुर साहिब कॉरिडोर खोलने के लिए भारत की तरफ से पहल किए जाने को लेकर पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने सोमवार को केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ मुलाकात की थी. अकाली दल नेता और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने दावा किया है कि इस मुलाकात में नवजोत सिंह सिद्धू को सुषमा स्वराज से कई मुद्दों पर झाड़ सुनने को मिली.

हरसिमरत कौर के मुताबिक सुषमा स्वराज ने सिद्धू से कहा कि इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए दी गई अनुमति का उन्होंने गलत इस्तेमाल किया. उस दौरान नवजोत सिंह सिद्धू वहां के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के गले लगे थे. तब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और दूसरे दलों के अलावा खुद कांग्रेस के नेता और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी उनकी आलोचना की थी.

उधर, द इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि इस मुलाकात में सुषमा स्वराज ने सिद्धू से यह भी कहा कि उन्हें इस संवेदनशील मुद्दे का ‘राजनीतिकरण’ करने से बचना चाहिए. उन्होंने कहा कि हरसिमरत कौर बादल की तरफ से करतारपुर कॉरिडोर का मुद्दा पहले ही उनके संज्ञान में लाया जा चुका है.

करतारपुर कॉरिडोर को सिख श्रद्धालुओं के लिए काफी अहम माना जाता है क्योंकि इसके खुलने से सिख समुदाय के लोग पाकिस्तान में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब तक आसानी से दर्शन के लिए पहुंच सकेंगे. खास बात यह भी है कि यह दोनों गुरुद्वारे दोनों देशों की सीमा के करीब ही स्थित है और सीमा से इसकी दूरी चंद मिनटों की है. लेकिन इस कॉरिडोर को खोले जाने को लेकर भारत और पाकिस्तान एक-दूसरे की तरफ से आधिकारिक पहल किए जाने का इंतजार कर रहे हैं.