अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन से चल रहे व्यापार युद्ध के तहत 200 अरब डॉलर (करीब 14,503 अरब रुपये) के चीनी आयात पर 10 प्रतिशत शुल्क लगा दिया है. सोमवार को इसकी घोषणा करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी भी दी कि उनके इस कदम की प्रतिक्रिया में अगर चीन ने अमेरिकी किसानों या कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई की तो अमेरिका तुरंत 267 अरब डॉलर (करीब 19,362 अरब रुपये) के अतिरिक्त चीनी सामानों पर शुल्क लगा देगा. इससे पहले ट्रंप ने चीन से आयात होने वाले 50 अरब डॉलर (करीब 3 लाख 62 हजार करोड़ रुपये) के सामान पर 25 प्रतिशत शुल्क लगा दिया था.

खबर के मुताबिक 200 अरब डॉलर का नया शुल्क 24 सितंबर से प्रभाव में आएगा. यानी अगले हफ्ते से 200 अरब डॉलर वाली सूची के सामान पर 10 प्रतिशत शुल्क लगना शुरू होगा. हालांकि एपल और फिटबिट कंपनियों की स्मार्ट घड़ियों व साइकिल हेल्मेट जैसे कुछ उत्पादों को शुल्क के दायरे से बाहर रखा गया है. कहा जा रहा है कि साल के अंत तक यह शुल्क बढ़कर 25 प्रतिशत कर दिया जाएगा. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक इस बीच अमेरिकी कंपनियों को अपना सामान दूसरे देशों में भेजने का थोड़ा समय मिल जाएगा. वहीं, अगर अमेरिका ने 267 अरब डॉलर के अतिरिक्त सामान पर भी शुल्क लगा दिया तो चीन से अमेरिका को निर्यात होने वाले 517 अरब डॉलर (करीब 37,500 अरब रुपये) के सामान पर शुल्क लग जाएगा.

हाल में व्यापार युद्ध को लेकर अमेरिका और चीन के बीच बातचीत हुई थी. लेकिन उसका कोई नतीजा नहीं निकला. पिछले हफ्ते अमेरिकी वित्त मंत्री स्टीवन म्युचिन ने चीन के शीर्ष अधिकारियों को बातचीत का न्यौता दिया था लेकिन, अभी तक इस बारे में कोई कार्यक्रम तय नहीं हो पाया है. बताया जा रहा है कि इसी के परिणामस्वरूप अमेरिका ने चीन से आयात किए जाने वाले और सामानों पर शुल्क लगा दिया है.