दिल्ली की एक अदालत ने राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया समेत आम आदमी पार्टी (आप) के 13 नेताओं के खिलाफ समन जारी किया है. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक यह समन दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ आप नेताओं द्वारा कथित मारपीट के एक मामले में जारी किया गया है. पटियाला हाउस कोर्ट के एडिशनल चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने इन सभी को 25 अक्टूबर को हाजिर होने के निर्देश दिए हैं.

अंशु प्रकाश के साथ मारपीट की वह कथित घटना इसी साल 19 फरवरी को मुख्यमंत्री निवास स्थान पर हुई थी. खबरों के मुताबिक उस दिन अरविंद केजरीवाल ने अंशु प्रकाश को राशन कार्ड व आवास के अलावा कुछ अन्य मुद्दों पर बैठक के लिए बुलाया था. इसी दौरान आप के कुछ नेताओं की उनके साथ हाथापाई और मारपीट हुई थी. मुख्य सचिव ने इस मामले की पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी और इसी आधार पर इस मामले में दिल्ली पुलिस ने 1300 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की थी.

उस वक्त इस चार्जशीट को फर्जी करार देते हुए आप नेताओं ने इसे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की साजिश करार दिया था. तब आप नेताओं ने यह भी कहा था कि भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार दिल्ली के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री को ‘बदनाम’ करने के लिए ऐसा कर रही है. इसके साथ ही पार्टी के कुछ अन्य नेताओं की तरफ से इसे केंद्र का दिल्ली सरकार की शक्तियों को कम करने की दिशा में किया गया फैसला भी बताया गया था.