विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने देश भर के विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षण संस्थानों को इस दिन को किसी उत्सव की तरह मनाने के निर्देश जारी किए हैं. यही नहीं, यूजीसी ने इसके लिए कुछ सुझाव भी दिए हैं. सेवानिवृत्त सैनिकों से छात्रों का वार्तालाप, विशेष परेड, झांकियां और सेना के प्रति अपने समर्थन को दर्शाते हुए ग्रीटिंग कार्ड्स बनाना इन सुझावों में शामिल हैं. 29 सितंबर 2016 को भारतीय सेना ने एक गुप्त ऑपरेशन के तहत पाकिस्तान के सीमा में मौजूद आतंकी संगठनों के अड्डों पर हमला कर उन्हें काफी क्षति पहुंचाई थी.

यूजीसी ने सभी कुलपतियों को एक पत्र जारी करते हुए विश्वविद्यालयों की एनसीसी यूनिट्स को इस दिन एक विशेष परेड आयोजित करने का निर्देश दिया है. इसके अलावा सेवानिवृत्त सैनिकों और छात्रों के बीच एक संवाद सत्र रखवाने के लिए भी कहा गया है, ताकि युवा देश के लिए सेना के बलिदानों से अवगत हो सकें. पत्र में कहा गया है, ‘यदि आपके शहर या राज्य में सर्जिकल स्ट्राइक से संबंधित झांकियों और प्रदर्शनियों का आयोजन हो रहा है तो विश्वविद्यालय अपने छात्रों और अध्यापकों को उनमें हिस्सा लेने या वहां जाने के लिए प्रोत्साहित करें.’