‘छत्तीसगढ़ में बसपा-जनता कांग्रेस गठबंधन की जीत हुई तो अजीत जोगी राज्य के मुख्यमंत्री बनेंगे.’  

— मायावती, बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख

मायावती का यह बयान इसी साल छत्तीसगढ़ में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव के लिए अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस व बहुजन समाज पार्टी के बीच हुए गठबंधन को लेकर आया है. मायावती का यह भी कहना है कि छत्तीसगढ़ में उनकी पार्टी 35 जबकि जनता कांग्रेस 55 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. उधर, इस गठबंधन पर अजीत जोगी ने कहा है, ‘बीते 15 वर्षों के शासन के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सत्ता, धन और प्रशासन का दुरुपयोग ही किया है. अब हमारा गठबंधन हो गया है, मायावती जी के साथ मिलकर भाजपा को सत्ता में लौटने से हम रोक लेंगे.’


‘जब चुनाव आने वाले होते हैं तभी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को राम मंदिर का ख्याल आता है.’  

— मनीष तिवारी, कांग्रेस के प्रवक्ता

मनीष तिवारी का यह बयान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत के उस बयान पर आया है जिसमें बुधवार को एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा था, ‘अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जल्दी से जल्दी होना चाहिए. राम मंदिर के निर्माण के साथ हिंदू-मुस्लिम के बीच कई विवाद अपने-आप ही खत्म हो जाएंगे.’ इस बीच मनीष तिवारी ने यह भी कहा है कि समलैंगिकता वाले धारा 377 के मुद्दे पर तो आरएसएस ने अपना रुख बदल लिया लेकिन राम मंदिर और जम्मू-कश्मीर से जुड़ी धारा 370 पर यह संगठन अपने पहले के विचारों पर ही कायम है.


‘पाकिस्तान के विदेश मंंत्री के साथ मुलाकात का फिलहाल कोई एजेंडा तैयार नहीं किया गया है.’  

— रवीश कुमार, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता

रवीश कुमार का यह बयान अगले हफ्ते संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूनजीए) के कार्यक्रम के दौरान भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के अपने पाकिस्तानी समकक्ष शाह महमूद कुरैशी के साथ होने वाली बैठक को लेकर आया है. उनका यह भी कहना है, ‘पाकिस्तान की तरफ से दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की मुलाकात को लेकर प्रस्ताव​ दिया गया था जिसे भारत ने स्वीकार कर लिया है. इस मुलाकात की तारीख और वक्त अभी निश्चित किया जाना है.’ रवीश कुमार के मुताबिक यूनजीए सम्मेलन के दौरान दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की सिर्फ मुलाकात होगी इसे किसी तरह की वार्ता के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए.


‘नरेंद्र मोदी का 56 इंची सीना कहां है?’  

— रणदीप सिंह सुरजेवाला, कांग्रेस के प्रवक्ता

रणदीप सिंह सुरजेवाला का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तानी सेना द्वारा सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान नरेंद्र सिंह की निर्मम हत्या किए जाने को लेकर आया है. रणदीप सिंह सुरजेवाला का यह भी कहना है कि पहले हेमराज और अब नरेंद्र सिंह को पाकिस्तानी सेना ने कठोर यातनाएं देकर मार दिया. इसके साथ ही भारत के सैनिकों को देश की आत्मा बताते हुए उन्होंने नरेंद्र मोदी से सवाल किया है कि क्या इस हत्या से उन्हें कोई आघात नहीं पहुंचा?