मध्य प्रदेश के मंदसौर में एक सरकारी कॉलेज के प्रोफेसर द्वारा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं के पैर छूने वाला एक वीडियो इस समय सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक इस वीडियो मेें कॉलेज के प्रोफेसर दिनेश गुप्ता एबीवीपी के कुछ कार्यकर्ताओं का पैर पकड़ते और माफी मांगते हुए नजर आ रहे हैं.

खबरों के मुताबिक, एबीवीपी के कुछ कार्यकर्ता अपनी मांगों को लेकर कॉलेज के प्राचार्य को एक ज्ञापन सौंपने जा रहे थे. इसी दौरान उन्होंने प्रोफेसर दिनेश गुप्ता की कक्षा के बाहर नारेबाजी शुरू कर दी. इस शोरगुल से परेशान होकर प्रोफेसर ने उनसे शांत हो जाने का आग्रह किया. इसके बाद गुस्साए कार्यकर्ता उन पर उन्हें ‘वंदे मातरम’ और ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाने से रोकने का आरोप लगाने लगे और उन्हें देशद्रोही भी कहने लगे. इतना ही नहीं, एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने प्रोफेसर को उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज कराने की धमकी तक दे डाली. इसके बाद प्रोफेसर दिनेश गुप्ता सभी कार्यकर्ताओं का एक-एक कर पैर छूने लगे और माफी मांगने लगे.

Play

बताया जाता है कि प्रोफेसर ने आज यानी गुरुवार से तीन दिनों की छुट्टी ले ली है और फिलहाल वे इस मसले पर टिप्पणी के लिए उपलब्ध नहीं हैं. इधर, मंदसौर के भाजपा विधायक यशपाल सिसोदिया का कहना है कि यह मामला इतना बड़ा नहीं है, जितना इसे बनाया जा रहा है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने प्रोफेसर से उनके पैर पकड़ने या माफी मांगने के लिए नहीं कहा था, बल्कि उन्होंने ऐसा खुद ही किया है. इसके साथ ही विधायक ने यह भी कहा कि वे दोनों पक्षों से बात करेंगे और अगर कार्यकर्ताओं की गलती है तो उन्हें माफी मांगने के लिए कहेेंगे.