सीरिया में रूस की अत्याधुनिक मिसाइल सुरक्षा प्रणाली एस-300 तैनात होगी | सोमवार, 24 सितंबर 2018

रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने बीते सोमवार को एक बयान जारी करते हुए कहा कि रूस अपनी अत्याधुनिक मिसाइल सुरक्षा प्रणाली एस-300 सीरिया भेजेगा. पिछले सप्ताह सीरिया में एक रूसी सैन्य विमान को निशाना बनाए जाने के बाद रूस ने यह फैसला लिया है. इस घटना में विमान में मौजूद सभी 15 लोगों की मौत हो गई थी. रूस ने अपना विमान गिराए जाने के लिए इजरायल को जिम्मेदार ठहराया था. (विस्तार से)

अमेरिका की यह नीति गले पर छुरी रखने जैसी : चीन | मंगलवार, 25 सितंबर 2018

अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध जारी है. इसी सिलसिले में चीन के उप वाणिज्य मंत्री वांग श्योवेन ने बीते मंगलवार को कहा कि ऐसे हालात में जब उसपर अमेरिका के द्वारा ऊंचे शुल्क लगाए जा रहे हैं, व्यापार संबंधित मुद्दों पर अमेरिका से बातचीत करना उसके लिए संभव नहीं है. इसके साथ ही वांग श्योवेन ने अमेरिका की इस नीति को ‘गले पर छुरी रखने’ जैसा भी बताया है. (विस्तार से)

जब रफाल सौदा हुआ तब मैं राष्ट्रपति नहीं था : इमैनुअल मैक्रों | बुधवार, 26 सितंबर 2018

रफाल विमान सौदे को लेकर चल रहे विवाद के बीच फ्रांस के मौजूदा राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने बीते बुधवार को सफाई देते हुए कहा है कि इस सौदे को लेकर भारत और फ्रांस की सरकार के बीच बातचीत हुई थी और जिस समय सौदे पर हस्ताक्षर हुए उस समय वे फ्रांस के राष्ट्रपति नहीं थे. मैक्रों ने इस बात पर जोर दिया कि रफाल सौदा एक औद्योगिक समझौते के साथ भारत और फ्रांस के बीच रणनीतिक गठबंधन भी है. उन्होंने कहा कि सैन्य व रक्षा संबंधों के लिहाज से इस सौदे का काफी ज्यादा महत्व है. (विस्तार से)

हम किसी दूसरे देश के आंतरिक मामलों में दखल नहीं देते : चीन | गुरुवार, 27 सितंबर 2018

चीन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक बयान का जवाब देते हुए कहा है कि वह किसी दूसरे देश के आंतरिक मामलों में दखल नहीं देता. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक गुरुवार को चीनी विदेश मंत्रालय की तरफ से एक बयान जारी करते हुए उसके प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा है, ‘यह बात पूरी दुनिया जानती है कि दूसरे देश के आंतरिक मामलों में सबसे ज्यादा दखल कौन देता है.’ इसके साथ ही उन्होंने ट्रंप को यह हिदायत भी दी कि वे ऐसी हरकतें करना बंद करें जिनसे चीन और अमेरिका के रिश्ते खराब हों. (विस्तार से)

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन अगले हफ्ते भारत आएंगे | शुक्रवार, 28 सितंबर 2018

भारत-रूस के 19वें द्विपक्षीय वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन अगले महीने अक्टूबर में भारत आएंगे. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक रूसी राष्ट्रपति पुतिन चार अक्टूबर को नई दिल्ली पहुंचेगे. दो दिन की इस यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनकी आधिकारिक स्तर की वार्ता होगी. इसके अलावा वे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मुलाकात करेंगे. (विस्तार से)

ईरान पर पाबंदी के मद्देनजर भारत के लिए तेल आपूर्ति के वैकल्पिक रास्ते तलाशे जा रहे हैं : अमेरिका| शनिवार, 29 सितंबर 2018

अमेरिका ईरान पर चार नवंबर से कड़े प्रतिबंध लगाने जा रहा है. अमेरिका के ब्यूरो ऑफ साउथ एंड सेंट्रल एशिया रीजन की मुख्य उप सहायक सचिव ने पीटीआई को बताया है कि अमेरिका अपने सभी मित्र देशों के साथ इन प्रतिबंधों को लेकर चर्चा कर रहा है. साथ ही उन्होंने कहा है कि अमेरिका भारत के तेल आयात की जरूरत को समझता है और भारत के लिए तेल आपूर्ति के वैकल्पिक रास्ते तलाश रहा है ताकि भारतीय अर्थव्यवस्था पर इसका बुरा असर न पड़े. (विस्तार से)

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.