‘घरेलू राजनीति और चुनावी मजबूरियों के कारण भारत हमसे बातचीत के लिए नहीं तैयार हो रहा.’  

— शाह महमूद कुरैशी, पाकिस्तान के विदेश मंंत्री

शाह महमूद कुरैशी का यह बयान न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) सम्मेलन के दौरान भारत-पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की अलग से होने वाली मुलाकात को भारत की ओर से रद्द कर दिए जाने के मद्देनजर आया है. उनका यह भी कहना है​ कि भारत सरकार समझती है कि अगर वह पाकिस्तान के साथ शांति के मुद्दे पर बातचीत करेगी तो अगले साल होने वाले आम चुनाव के नतीजों पर इसका विपरीत असर पड़ेगा. हालांकि भारत-पाक सीमा पर बीएसएफ के एक जवान और फिर जम्मू-कश्मीर पुलिस के तीन जवानों की हत्या को लेकर भारत सरकार ने यूएनजीए सम्मेलन के शुरू होने से पहले ही विदेश मंत्रियों की इस प्रस्तावित मुलाकात को रद्द कर दिया था.


‘भारत उस देश से बातचीत नहीं कर सकता जो हत्यारों को सम्म्मान देता है.’  

— सुषमा स्वराज, भारत की विदेश मंत्री

सुषमा स्वराज ने यह बात संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के 73वें सम्मेलन के दौरान अपने आक्रामक भाषण में कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि भारत ने अपने पड़ोसी देश के साथ कई बार शांति वार्ता की प्रक्रिया शुरू की लेकिन हर बार पाकिस्तान के ‘रवैए’ की वजह से इसे बंद करना पड़ा. आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान पर सीधे निशाना साधते हुए उन्होंने यह भी कहा, ‘भारत का पड़ोसी न सिर्फ आतंकवाद फैलाने में दक्ष है बल्कि इसे नकारने में भी इसने महारथ हासिल कर रखी है.’ उन्होंने आगे कहा कि ओसामा बिन-लादेन को अमेरिकी खुफिया तंत्र ने पाकिस्तान में ढ़ूंढ़कर मार गिराया. इतनी बड़ी घटना होने के बावजूद पाकिस्तान के माथे पर शिकन तक नहीं आई. इतना ही नहीं 9-11 और 26-11 के आतंकी हमलों का साजिशकर्ता हाफिज सईद आज पाकिस्तान में चुनावी रैलियां करते हुए देखा जा सकता है जिससे पाकिस्तान की दोहरी नीति का पता चलता है. आतंकवाद के अलावा सुषमा स्वराज ने ग्लोबल वॉर्मिंग और यूएन के महत्व और इस संस्था के गौरव की बात भी की. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वक्त के साथ हो रहे बदलावों को यूएन को स्वीकार करना होगा क्योंकि ऐसा न होने पर लीग आॅफ नेशंस की तरह इसका भी पतन हो सकता है.


‘सरदार पटेल का सम्मान कांग्रेस को हजम नहीं हो पा रहा.’  

— नरेंद्र मोदी, भारत के प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट में कही है. इसमें उन्होंने यह भी लिखा है कि कांग्रेस ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को कभी याद तक नहीं किया और आज जब देश उनका सम्मान कर रहा है तो कांग्रेस को यह बात हजम नहीं हो रही. इससे पहले गुजरात में बन रही सरदार पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि नरेंद्र मोदी ‘मेक इन इंडिया’ की बात करते हैं लेकिन सरदार पटेल की प्रतिमा के निर्माण का काम उन्होंने चीन को दे रखा है.


‘भारत-पाकिस्तान सीमा पर आतंकवाद निरोधक कार्रवाई जारी रहेगी.’  

— निर्मला सीतारमण, भारत की रक्षा मंत्री

निर्मला सीतारमण का यह बयान भारत-पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय सीमा व नियंत्रण रेखा पर पड़ोसी देश से होने वाली घुसपैठ को लेकर आया है. उनका यह भी कहना है, ‘हाल ही में भारतीय सुरक्षा बलों ने कई पाकिस्तानी घुसपैठियों को मार गिराया है. मुझे नहीं पता पाकिस्तान ने इससे सबक लिया है या नहीं. मैं इतना जरूर कहूंगी कि अगर पाकिस्तान ने घुसपैठ पर लगाम नहीं लगाई तो भारत की तरफ से यह प्रक्रिया जारी रहेगी.’ उधर, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि बीते दिनों बीएसएफ के एक जवान की बर्बर हत्या का भारतीय सुरक्षा बलों ने बदला लेने के लिए भारत-पाक सीमा पर कड़ी कार्रवाई की है. हालांकि यह कार्रवाई क्या और कैसी थी, फिलहाल इसकी जानकारी के लिए गृह मंत्री ने थोड़ा इंतजार करने की बात कही है.


‘ग्रामीण इलाकों के स्कूलों को गणित और विज्ञान के शिक्षकों की भारी कमी का सामना करना पड़ रहा है.’  

— एम वेंकैया नायडू, भारत के उपराष्ट्रपति

एम वेंकैया नायडू ने यह बात शनिवार को मध्य प्रदेश में एक सौ डिजिटल कक्षाओं के उद्घाटन कार्यक्रम के दौरान दिए अपने संबोधन में कही. इस दौरान उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं समझता हूं कि इन स्कूलों में अंग्रेजी भाषा की शिक्षा जरूर दी जा रही होगी लेकिन इसके साथ विद्यार्थियों को उनकी मातृभाषा की शिक्षा दी जानी भी जरूरी है.’ इसके अलावा उपराष्ट्रपति ने मौजूदा समय की शिक्षा में आधुनिक तकनीक के इस्तेमाल पर चर्चा करते हुए कहा कि मल्टीमीडिया, डिजिटल कक्षाओं, इंटरनेट आदि की मदद से बच्चों को कठिन विषय आसानी से पढ़ाए और समझाए जा सकते हैं और ऐसे में इसके उपयोग को अधिक से अधिक बढ़ाए जाने की जरूरत है.