इंडोनेशिया में भूकंप के बाद आई सुनामी में मरने वालों की संख्या 1234 हो गई है. शुक्रवार को इंडोनेशिया के सुलावेसु द्वीप में जोरदार भूकंप के बाद सुनामी आयी थी. इस आपदा से सबसे ज्यादा पालू शहर प्रभावित हुआ है. सुनामी के वक्त हजारों लोग यहां बीच महोत्सव की तैयारी में जुटे थे. भूकंप के चलते इनमें से बहुत सारे अभी भी लापता हैं. खबरों के मुताबिक इनमें से कई विदेशी नागरिक भी हैं. भूकंप के झटके आने का सिलसिला अभी भी जारी है जिसकी वजह से लोगों में दहशत है. इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने रविवार को भूकंप और सुनामी प्रभावित इलाकों का दौरा किया.

मंगलवार को एक चर्च के मलबे से 34 छात्रों के शव बरामद किए हैं. पीटीआई के मुताबिक इंडोनेशिया में रेड क्रॉस की प्रवक्ता औलिया अरियानी ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मलबे में अब भी शवों के होने की आशंका है. भूकंप के बाद कुल 86 छात्रों के लापता होने की खबर थी. इंडोनेशिया में नियमित रूप से भूकंप आते रहते हैं. बीते महीने ही सुलावेसी के दक्षिण-पश्चिम में स्थित लंबोक द्वीप पर आए भूकंप में 100 से ज्यादा लोग मारे गए थे. 2004 में आए एक भूकंप और सुनामी ने इंडोनेशिया में करीब डेढ़ लाख लोगों की जान ले ली थी