क़रीब एक हफ़्ता पहले कश्मीर के तंगधार में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान भारतीय सेना में लांसनायक रहे संदीप सिंह शहीद हो गए थे. उनकी शहादत पर देश भर से आ रही प्रतिक्रियाओं का सिलसिला अभी तक जारी है. इनमें एक ओर पाकिस्तान के ख़िलाफ़ सख़्त क़दम उठाए जाने की मांग है तो दूसरी तरफ कई लोग संदीप सिंह के परिवार के भविष्य को लेकर चिंताएं व्यक्त कर रहे हैं.

लेकिन सोशल मीडिया पर शहीद संदीप सिंह को लेकर एक भ्रामक जानकारी अभी भी शेयर की जा रही है. दावा है कि संदीप सिंह सेना के उस दल का हिस्सा थे जिसने सितंबर, 2016 को पाकिस्तान के क़ब्जे़ वाले कश्मीर में घुस कर सर्जिकल स्ट्राइक ऑपरेशन को अंजाम दिया था. न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने भी यह जानकारी दी थी. कई मीडिया संस्थानों ने भी इसे सच मान कर ख़बर के साथ प्रकाशित किया था. हालांकि यह सच नहीं है.

द वीक की रिपोर्ट से पता चलता है कि भारतीय सेना ने इस दावे को तभी ख़ारिज कर दिया था जब इसे ख़बर के साथ जोड़ कर चलाया जा रहा था. वेबसाइट ने न्यूज़ एजेंसी आईएएनएस की एक रिपोर्ट के हवाले से यह जानकारी दी थी. रक्षा मंत्रालय ने आईएएनएस को बताया था कि इस ख़बर का कोई आधार नहीं है कि लांसनायक संदीप सिंह ने सर्जिकल स्ट्राइक में हिस्सा लिया था. बाद में कुछ वेबसाइटों ने इस नई जानकारी को प्रकाशित भी किया था. लेकिन ज़्यादातर मीडिया संस्थानों में यह ख़बर प्रकाशित नहीं हुई. शायद इसी वजह से सोशल मीडिया पर भ्रामक जानकारी अभी भी शेयर की जा रही है.