सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के रूप में दीपक मिश्रा के कार्यकाल का आज आखिरी दिन था. खबरों के मुताबिक अपने कार्यकाल के अंतिम दिनों में सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश, समलैंगिकता, नौकरी-प्रमोशन में आरक्षण, राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद, एडल्ट्री जैसे अहम मुद्दों पर फैसला सुनाने वाले दीपक मिश्रा सोमवार को कोर्ट में भावुक अंदाज में दिखाई दिए.

एनडीटीवी के मुताबिक सोमवार को अदालती कार्रवाई के आखिर में एक वकील ने दीपक मिश्रा के स्वास्थ्य और उनकी लंबी उम्र की कामना करते हुए हिंदी फिल्म का एक गाना, तुम जियो हजारों साल... गाना शुरू कर दिया. इस गाने को सुनते ही चीफ जस्टिस ने उस वकील को फौरन अपने अंदाज में रोकते हुए कहा, ‘अभी मैं दिल से कह रहा हूं आप गाना रोक दें. इस बारे में शाम को मैं अपने दिमाग से आपको प्रतिक्रिया दूंगा.’ उस वक्त कोर्ट में दीपक मिश्रा के साथ सुप्रीम कोर्ट के अगले चीफ जस्टिस रंजन गोगाई के अलावा जस्टिस एएम खनविलकर भी बैठे हुए थे.

जस्टिस दीपक मिश्रा बीते साल अगस्त में सुप्रीम के मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किए गए थे. 16 जनवरी 1996 को ओडिशा हाई कोर्ट में बतौर अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त होने वाले दीपक मिश्रा का बाद में मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में स्थानांतरण हुआ था जहां 19 दिसंबर 1997 को वे स्थायी न्यायाधीश बने थे. 23 दिसंबर 2009 को पटना हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस बनने के बाद 10 अक्टूबर 2011 को वे सुप्रीम कोर्ट में पदोन्नत हुए थे.