सुप्रीम कोर्ट द्वारा ग्राहकों के सत्यापन के लिए आधार की अनिवार्यता खत्म करने के बाद अब भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) हरकत में आ गया है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक उसने दूरसंचार कंपनियों से कहा है कि वे अपने ग्राहकों की पहचान की प्रक्रिया (केवाईसी) के लिए आधार का इस्तेमाल बंद करें.

साथ ही यूआईडीएआई ने कंपनियों से यह भी कहा है कि वे ग्राहकों के आधार को उनके नंबर से डी-लिंक करने के लिए अपनी योजना बताएं. इस काम के लिए कंपनियों को 15 दिनों का समय दिया गया है. बताया जा रहा है कि इस बाबत रिलायंस जिओ, भारती एयरटेल, आईडिया और वोडाफोन सहित अन्य दूरसंचार कंपनियों को सर्कुलर जारी कर दिया गया है. 26 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने नया सिम लेने और ग्राहकों के वेरिफिकेशन के लिए आधार की अनिवार्यता खत्म कर दी थी.