शुक्रवार को इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप में आए भूकंप के बाद बचावकर्मियों ने मंगलवार को एक चर्च के मलबे से 34 छात्रों के शव बरामद किए हैं. पीटीआई के मुताबिक इंडोनेशिया में रेड क्रॉस की प्रवक्ता औलिया अरियानी ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मलबे में अब भी शवों के होने की आशंका है. भूकंप के बाद कुल 86 छात्रों के लापता होने की खबर थी. अधिकारियों की चिंता अब बढ़ने लगी है क्योंकि मलबे में दबे शव गर्म मौसम में जल्दी सड़ने लगते हैं जिससे घातक बीमारियां फैलने का डर है.

उधर अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण (यूएसजीएस) के हवाले से खबर है कि इंडोनेशिया के सुंबा द्वीप के दक्षिणी तट पर मंगलवार सुबह को 5.9 की तीव्रता वाला एक भूकंप आया है. भूकंप का केंद्र सुंबा से करीब 40 किलोमीटर की दूरी पर जमीन से 10 किलोमीटर की नीचे गहराई में केंद्रित था. इस द्वीप में करीब साढ़े सात लाख लोग रहते हैं और सुलावेसी द्वीप के 1,600 किलोमीटर दक्षिण में स्थित है.

ताजा आकंड़े मिलने तक इंडोनेशिया में भूकंप और सुनामी के कारण मरने वालों की संख्या 844 तक पहुंच चुकी है. लेकिन अभी दूर-दराज के क्षेत्रों तक बचाव दल पहुंचे नहीं है और इस वजह से माना जा रहा है कि यह आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है. इस बीच देश के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने अंतरराष्ट्रीय मदद की गुहार लगाई है.