भारतीय रेलवे अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन परियोजना को ‘मेक इन इंडिया’ से जोड़ने की कोशिश कर रहा है. इसके तहत जैसा कि सूत्र बताते हैं कि इस ट्रेन के कोच भारत में ही बनवाए जा सकते हैं.

हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार बुलेट ट्रेन के कोच बनवाने के लिए रायबरेली की आधुनिक कोच फैक्ट्री (एमसीएफ) को चुना जा सकता है. इस बाबत भारतीय रेलवे ने बीते महीने की बुलेट ट्रेन परियोजना से जुड़े वर्किंग ग्रुप (कामकाजी समूह) के सामने एक विस्तृत प्रस्तुतिकरण भी दिया है. हालांकि सूत्र यह भी बताते हैं कि शुरू में बुलेट ट्रेन के कोच जापान से ही आयात किया जाना तय है.

रेलवे के एक अधिकारी इसकी पुष्टि करते हुए कहते हैं, ‘पहले जापान से हमें बुलेट ट्रेन के कोच बनाने की तकनीक मुहैया कराई जाएगी. इसके बाद ही इनका निर्माण शुरू हो पाएगा. वैसे, इसके लिए एमसीएफ रायबरेली में तमाम सुविधाएं और ढांचा मौज़ूद है.’ हालांकि सूत्रों की मानें तो अभी यह आकलन नहीं हो पाया है कि स्थानीय स्तर पर बुलेट ट्रेन के कोच बनाने में लागत कितनी आएगी.’

एमसीएफ के भी एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, ‘हमारे पास अभी 160 से 200 किलोमीटर की रफ़्तार से दौड़ने वाले काेच बनाने की क्षमता है. साथ ही साल भर में 1,000 कोचों के निर्माण की भी. इस क्षमता को हम लगातार बढ़ा रहे हैं. हमें यकीन है कि साल-दो साल में हम कुछ और बढ़ी रफ़्तार वाले सालाना 2,000 तक कोचों का निर्माण करने की स्थिति में आ चुके होंगे.