तीन बार के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता और भारत के पूर्व हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर की तबीयत बिगड़ गई है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक सांस लेने में तकलीफ के चलते उन्हें चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 94 साल के बलबीर सिंह को फिलहाल आईसीयू में रखा गया है. बलबीर सिंह का इलाज करने वाले एक डॉक्टर के मुताबिक उनके श्वास-नली में एक ट्यूब डाली गई है ताकि वे आसानी से सांस ले सकें. बताया जा रहा है कि उनकी हालत में पहले से सुधार हुआ है.

बलबीर सिंह अकेले ऐसे भारतीय हैं जिन्हें साल 2012 में आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महान खिलाड़ियों में चुना गया था. 1948 में बलबीर सिंह सीनियर की कप्तानी में ही आजाद भारत ने पहला ओलंपिक स्वर्ण पदक हासिल किया था. इसके साथ ही ओलंपिक के पुरुष हॉकी फाइनल में सबसे ज्यादा गोल करने का रिकॉर्ड अभी भी उनके ही नाम है. उन्होंने साल 1952 में खेले गए हेलसिंकी ओलंपिक में नीदरलैंड के खिलाफ फाइनल में पांच गोल किये थे. वह मैच भारत 6-1 से जीता था. साल 1957 में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था.