‘कोई दूसरी राजनीतिक पार्टी कांग्रेस का भाग्य तय नहीं कर सकती.’  

— कमलनाथ, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

कमलनाथ का यह बयान बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती पर निशाना साधते हुए आया है. उनका यह भी कहना है कि मध्य प्रदेश और राजस्थान के विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस-बसपा का गठबंधन न होने से कांग्रेस के वोट प्रतिशत पर कोई असर नहीं पड़ने वाला. कमलनाथ के मुताबिक मायावती के सहयोग के बगैर ही कांग्रेस इन दोनों राज्यों में अपनी पार्टी की सरकार बनाएगी. इससे पहले गुरुवार को मायावती ने इन राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन करने से इनकार करते हुए यहां अकेले ही चुनाव लड़ने की घोषणा की थी.


‘अयोध्या में अगर अभी राम मंदिर नहीं बना तो इसका निर्माण फिर कभी नहीं हो पाएगा.’  

— संजय राउत, शिव सेना के वरिष्ठ नेता

संजय राउत का यह बयान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि राम जन्मभूमि न्यास के प्रमुख जनमेजय शरण जी महाराज के साथ शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की बुधवार को एक बैठक हुई थी. इस बैठक में जनमेजय शरण जी महाराज ने राम मंदिर के निर्माण के लिए शिव सेना से मदद करने को कहा है साथ ही इस दौरान उन्होंने उद्धव ठाकरे को अयोध्या आने का निमंत्रण भी दिया था. संजय राउत के मुताबिक शिव सेना प्रमुख जल्दी ही अयोध्या जाएंगे और इस दौरे की तारीख की घोषणा शिव सेना की वार्षिक दशहरा रैली के मौके पर की जाएगी.


‘पेट्रोल-डीजल के उत्पाद शुल्क में दस रुपये की बढ़ोतरी के बाद ढाई रुपये की कटौती करना जनता के साथ धोखा है.’  

— अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के मुख्यमंत्री

अरविंद केजरीवाल ने यह बात एक ट्वीट में कही है. इसके साथ ही बीते कुछ दिनों से पेट्रोल व डीजल के हर रोज बढ़ते दामों के मद्देनजर उन्होंने यह भी कहा है​ कि केंद्र सरकार को तेल के दामों में कम से कम दस रुपये प्रति लीटर की कटौती करनी चाहिए थी. इससे पहले गुरुवार को ही केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने तेल के दामों में ढाई रुपये कटौती की घोषणा करते हुए कहा था कि डेढ़ रुपये की कटौती उत्पाद शुल्क में की जा रही है और एक रुपये प्रति लीटर का भार तेल बेचने वाली कंपनियां वहन करेंगी. इसके साथ ही उन्होंने राज्य सरकारों से भी वैल्यू एडेड टैक्स (वैट) या सेल्स टैक्स में इसी अनुपात में कमी करने की अपील भी की थी.


‘राजस्थान व मध्य प्रदेश में बसपा का अच्छा आधार है और मायावती को इसे और मजबूत करना चाहिए.’  

— सुब्रमण्यम स्वामी, भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता

सुब्रमण्यम स्वामी का यह बयान मध्य प्रदेश और राजस्थान के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन न करने के फैसले को लेकर आया है. वहीं सुब्रमण्यम स्वामी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि कांग्रेस में कोई ऐसा नेता नहीं है जो इस पार्टी को स्थिरता दे सके. इसके साथ ही उनका यह भी कहना है कि कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता घोटालों के आरोप में फंसे हुए है और यह ‘जोकरों की पार्टी’ बनकर रह गई है.


‘सात रोहिंग्या मुसलमानों को म्यांमार वापस भेजे जाने का फैसला उनकी इच्छा जानने के बाद किया गया है.’  

— रवीश कुमार, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता

रवीश कुमार का यह बयान सात रोहिंग्या मुसलमानों को उनके देश म्यांमार वापस भेजे जाने को लेकर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि यह पूरी प्रक्रिया कानूनी ढंग से संपन्न की गई है और इस बारे में भारत ने म्यांमार से पहले ही सहमति हासिल कर ली थी. रवीश कुमार का यह भी कहना है कि जिन सात रोहिंग्याओं को उनके देश वापस भेजा गया है उन्होंने साल 2012 में गैर कानूनी ढंग से भारत में प्रवेश किया था. इसके बाद कानून के उल्लंघन के जुर्म में वे असम की एक जेल में बंद थे.