एयरसेल-मैक्सिस मामले में दिल्ली स्थित पटियाला हाउस कोर्ट ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम और उनके पुत्र कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी पर रोक बढ़ा दी है. सोमवार को इस मामले की सुनवाई करते हुए अदालत ने एक नवंबर तक पी चिंदबरम और उनके पुत्र की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है. केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इस मामले में दोनों को आरोपित बनाया है. आज की सुनवाई के दौरान सीबीआई और ईडी के वकीलों ने कोर्ट को बताया कि पी चिदंबरम के वकीलों ने कोर्ट में जो अपील की है, उसका जवाब दाखिल करने के लिए उन्हें कुछ वक्त की जरूरत है. ऐसे में कोर्ट ने दोनों पक्षों को राहत देते हुए मामले की सुनवाई एक नवंबर तक के लिए टाल दी.

इससे पहले ईडी ने बीते 13 जून को इसी मामले में पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी. उसमें पी चिदंबरम का नाम शामिल था. वहीं, सीबीआई इस मामले में उन भुगतानों की जांच कर रही है जो पी चिदंबरम के वित्त मंत्री रहते हुए उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को किए गए थे. आरोपों के मुताबिक एयरसेल-मैक्सिस सौदे को मंजूरी दिलाने के एवज में कार्ति चिदंबरम को मोटी रकम दी गई थी. इस दौरान पी चिदंबरम देश के वित्त मंत्री थे. उन पर आरोप हैं कि उन्होंने एयरसेल-मैक्सिस सौदे को कैबिनेट के सामने रखे बिना ही मंजूरी दे दी थी.