अर्थशास्त्र के क्षेत्र के लिए भी नोबेल पुरस्कार विजेताओं की घोषणा कर दी गई है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ इकोनॉमिक्स ने इस बार यह पुरस्कार विलियन डी नॉर्डहॉस और पॉल एम रोमेर को संयुक्त रूप से देने की घोषणा की है. इन्हें यह पुरस्कार जलवायु परिवर्तन और आर्थिक विकास पर इनकी खोज के लिए दिया जाएगा. नॉर्डहॉस येल विश्वविद्याल में प्रोफेसर हैं जबकि रोमर न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय के स्टर्न स्कूल ऑफ बिजनेस से जुड़े हैं

पीटीआई के मुताबिक नोबेल एकेडमी ने अपने बयान में कहा है, ‘इन दोनों अर्थशास्त्रियों ने हमारे समय के कुछ ज्वलंत प्रश्नों के समाधान प्रस्तुत किए हैं जो बताते हैं कि हम किस तरह अपनी आर्थिक वृद्धि को लंबे समय तक निरंतर मजबूत बनाए रख सकते हैं.’

इसके पहले बीती पांच अक्टूबर को शांति के नोबेल पुरस्कार के लिए कांगो के डॉ डेनिस मुकवेगे और यजीदी समुदाय से ताल्लुक रखने वाली नादिया मुराद को चुना गया था. इसके साथ ही एक अक्टूबर को अमेरिका के जेम्स पी एलिसन और जापान के तासुकु होंजो को संयुक्त रूप से चिकित्सा क्षेत्र का नोबेल पुरस्कार दिए जाने का ऐलान किया गया था. इन्हें यह सम्मान कैंसर के इलाज में इनकी खोज को लेकर दिया गया है. बीते दो अक्टूबर को भौतिकी के नोबेल पुरस्कार विजेताओं की घोषणा की गई थी. यह पुरस्कार ऑर्थर अश्किन, गेरार्ड मौरू और डोना स्ट्रिक्लैंड को दिया जाएगा. इन तीनों को यह सम्मान लेजर फिजिक्स में इनके असाधारण आविष्कारों के लिए दिया जा रहा है. इस बार साहित्य का नोबेल नहीं दिया जाएगा और ऐसा 70 साल में पहली बार हो रहा है.