रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की नागपुर यूनिट के एक कर्मचारी को जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार किए गए इस कर्मचारी का नाम निशांत अग्रवाल है और उसे उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र पुलिस के आतंकनिरोधी दस्ते (एटीएस) ने एक संयुक्त कार्रवाई में पकड़ा गया है. निशांत के पास से कुछ संदिग्ध दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं.

इंडिया टुडे के मुताबिक अग्रवाल यहां डीआरडीओ के ब्रह्मोस मिसाइल उत्पादन केंद्र के साथ पिछले चार साल से काम कर रहा था. सूत्रों के मुताबिक उसने इस मिसाइल से संबंधित कुछ गोपनीय जानकारियां पाकिस्तानी एजेंसियों को दी हैं. इस मामले को लेकर फिलहाल और भी जगह छापामारी चल रही है.

ब्रह्मोस एक मध्यम दूरी की सुपरसोनिक मिसाइल है और इसे हवा, पानी और जमीन, तीनों जगहों से दागा जा सकता है. दुनिया की सबसे तेज क्रूज मिसाइल मानी जानी वाली ब्रह्मोस को भारत और रूस ने मिलकर विकसित किया है.